समाज के लगभग 20 से अधिक तपस्वियों ने किया तप:बीस से अधिक तपस्वियाें ने किया अनंत चतुर्दशी तप, समाज में इसका विशेष स्थान

खिरकिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खिरकिया। तप कार्यक्रम के दाैरान समाज के लाेग। - Dainik Bhaskar
खिरकिया। तप कार्यक्रम के दाैरान समाज के लाेग।

जैन समाज के श्रावक-श्राविकाओं ने अनंत चतुर्दशी तप का पाल किया गया। तपस्वियों ने निराहार रहकर यह कठिन तप किया। समाज में अनंत चतुर्दशी पर किए जाने वाले इस खास तप की महत्ता है। समाज के लगभग 20 से अधिक तपस्वियों ने तप किया। 4 पीढ़ी वाले परिवार ने इस तप के पारणे का लाभ लिया। इसकी लाभार्थी पारस देवी कोचर ने तपस्वियों का पारणा कराया।

लाभार्थी अनिल अशोक कोचर ने तपस्वियों को प्रभावना का वितरण भी किया। तपस्वियों ने लभार्थी परिवार का बहुमान किया। चतुदर्शी तप तपस्वी पूरे 36 घंटे निराहार रहते हैं। केवल पानी ग्रहण करते हैं। यह तप 14वें तीर्थंक अनंतनाथ भगवान की माला गिनते हैं, जिसमें जीवन सुख समृद्धि भी मिलती है। ऐसी मान्यता भी है कि मरूदयी माता ने तप किया था। जिस घर में सबसे अधिक पीढ़िया होती है उस घर में जाकर पारण करने से भी घर में सुख समृद्धि आती है।

खबरें और भी हैं...