• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Multai
  • Dip Of Faith In Tapti On Bhai Dooj, Worship Done In Temples; People Had Also Come From Maharashtra, Chhindwara, Pandhurna Including The District To Take Bath.

विशेष महत्व:भाई दूज पर ताप्ती में लगी आस्था की डुबकी, मंदिरों में हुआ पूजन; स्नान करने जिले सहित महाराष्ट्र, छिंदवाड़ा, पांढूर्ना से भी लोग आए थे

मुलताई21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्तिक मास की शुक्ल दूज के दिन शनिदेव और यम बहन ताप्ती के घर आते

भाई दूज पर शनिवार को ताप्ती सरोवर में स्नान करने वालों की भीड़ रही। बहनों ने भाई काे तिलक लगाकर मंदिरों में पूजन किया। दूज पर ताप्ती स्नान का विशेष महत्व है। जिसके चलते सुबह से दोपहर तक सरोवर में स्नान करने वालों की भीड़ रही। ताप्ती स्नान करने जिले सहित महाराष्ट्र, छिंदवाड़ा, पांढूर्ना से भी लोग आए थे।

सरोवर के अलग-अलग घाटों पर लोगों ने स्नान किया। ताप्ती स्नान के बाद ताप्ती मंदिर सहित अन्य मंदिरों में पूजन करने वालों की भीड़ रही। बहनों ने भाई का तिलक कर लंबी उम्र की कामना की। ताप्ती मंदिर के पुजारी अशोक चिंचोले, लक्ष्मीनारायण मंदिर के पुजारी गणेश त्रिवेदी ने बताया सुबह से स्नान करने वाले ताप्ती सरोवर के तट पर पहुंचने लगे थे। पं. विश्वकसेन देशमुख ने बताया शनिवार के साथ यम द्वितीया का संयोग होने से ताप्ती स्नान के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी। भगवान सूर्य के पुत्र शनि, यम, पुत्री ताप्ती और यमुना है।

कार्तिक मास की शुक्ल दूज के दिन शनिदेव और यम बहन ताप्ती के घर आते हैं। पौराणिक मान्यता है इस दिन ताप्ती स्नान और पूजन से शनि देव की कृपा होती है। कष्टों का निवारण होता है। यम भगवान की कृपा से आयु में वृद्धि होती है।

खबरें और भी हैं...