पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हतनापुर गांव का मामला:उपसरपंच ने कलेक्टर से की सामाजिक अंकेक्षण टीम के सदस्यों शिकायत

मुलताई3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अंकेक्षक बाेले आरोप निराधार, काेरम के अभाव में नहीं हुआ साेशल ऑडिट

ग्राम हतनापुर के उपसरपंच ने सामाजिक अंकेक्षण टीम के सदस्यों पर राशि मांगने का आरोप लगाते हुए कलेक्टर से शिकायत की है। उपसरपंच रामेश्वर परिहार ने सामाजिक अंकेक्षण के सदस्यों द्वारा मनरेगा के कार्य में सोशल ऑडिट के नाम पर अवैध रूप से राशि वसूलने का आरोप लगाया है।

रामेश्वर परिहार ने बताया ग्राम पंचायत हतनापुर में 25 अगस्त को सामाजिक अंकेक्षण की ग्रामसभा थी। ग्राम सभा में 2019-20 में किए गए निर्माण कार्य का भौतिक, मौखिक और आय-व्यय का सत्यापन किया जाना था। सामाजिक अंकेक्षण के सदस्यों ने सोशल ऑडिट के नाम पर तीन हजार रुपए की मांग।

राशि नहीं देने पर कोरम पूरा नहीं होने की बात कहकर अगली तारीख 5 सितंबर दी और उच्च अधिकारियों को बुलाकर कार्रवाई की चेतावनी दी। सामाजिक अंकेक्षण के सदस्य 5 सितंबर को सोशल ऑडिट करने पहुंचे और कोरम पूरा नहीं होने की बात कहकर 12 सितंबर की तारीख दे दी।

इस दिन भी मांगी गई राशि नहीं देने पर कोरम पूरा नहीं होने का कहकर ऑडिट नहीं किया। उपसरपंच ने बताया कोरम पूरा होने की संख्या में ग्रामीण उपस्थित भी थे। इस प्रकार राशि की मांग करने वालों पर कार्रवाई की जाना चाहिए।

इस संबंध में सामाजिक अंकेक्षण के वीएसए राजेंद्र अमरूते, लाखनसिंह सोलंकी और जगदीश कवड़े का कहना है रुपए मांगने का आरोप निराधार है। कोरम पूरा नहीं होने से सोशल ऑडिट नहीं हो पाया है।

खबरें और भी हैं...