पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ज्ञापन:पवित्र नगरी के नियमों का नहीं हो रहा पालन, प्रतिबंधित क्षेत्र में बिक रहे मांस-मदिरा

मुलताईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मां ताप्ती का उद्गम स्थल होने से नगर को पवित्र नगरी का दर्जा मिला है। इसके बाद भी राजपत्र में पवित्र नगरी के लिए जारी दिशा निर्देशों का पालन नहीं हो रहा है। पवित्र नगरी की सीमा में खुले आम मांस, मदिरा और अंडों की बिक्री हो रही है। सोमवार को गाे क्रांति दल के सदस्यों ने पवित्र नगरी के नियमों का कड़ाई से पालन कराने की मांग करते हुए एसडीएम हरसिमरनप्रीत कौर को ज्ञापन दिया।

राज्य शासन के धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग की अधिसूचना द्वारा 21 जनवरी 2008 को मुलताई नगर को पवित्र नगरी घोषित किया गया था। गाे क्रांति दल के गणेश साहू, दिनेश कालभोर, योगेश दियावार, राजू चोपड़े, मनीष शर्मा, अरुण साहू, प्रीतम सिसाैदिया, संजू पहलवान, सचिन विश्वकर्मा, गौरव पाटनकर, मोनित बोबड़े सहित अन्य ने बताया पवित्र नगरी बनने के बाद भी नगर में नियमों का पालन नहीं हो रहा है। प्रशासन ने भी नियमों का पालन कराने में रुचि नहीं ली है।

जिससे नगर के सभी वार्डों में नियम विरुद्ध मांस, मदिरा, मछली, अंडा, मुर्गा-मुर्गी की बिक्री हो रही है। पवित्र नगरी की सीमा में पशुओं के वध पर भी प्रतिबंध है। प्रतिबंधित क्षेत्र में नियमों का उल्लंघन होने के बाद भी प्रशासन ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। जिससे पवित्र नगरी का दर्जा औपचारिक बनकर रह गया है। पवित्र नगरी के नियमों का कड़ाई से पालन होना चाहिए।

पवित्र नगरी बनने के बाद से शुरू हुआ ताप्ती महोत्सव

पवित्र नगरी बनने के बाद से नगरवासियों को एकमात्र ताप्ती महोत्सव की सौगात मिली है। तीन दिवसीय ताप्ती महोत्सव के आयोजन की तिथि भी निर्धारित नहीं है। जिससे हर साल ताप्ती महोत्सव के आयोजन को लेकर मशक्कत करनी पड़ती है। ताप्ती महोत्सव का आयोजन संस्कृति संचालनालय द्वारा किया जाता है।

इन वार्डों को छोड़कर संपूर्ण क्षेत्र में मांस, मदिरा बिक्री पर है प्रतिबंध

मप्र शासन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग ने अधिसूचना जारी कर नगर के 15 वार्डों में से दो वार्ड का संपूर्ण क्षेत्र और एक वार्ड का आंशिक क्षेत्र छोड़कर संपूर्ण क्षेत्र को पवित्र नगरी की सीमा में लिया है। नगर के वार्ड 10, आजाद वार्ड, वार्ड 12 गांधी वार्ड का संपूर्ण क्षेत्र, वार्ड क्रमांक 9 नेहरू वार्ड का आंशिक क्षेत्र, जिसमें उत्तर में कृषि उपज मंडी इंदिरा गांधी वार्ड तक, पूर्व में अमरावती रोड तक, दक्षिण में नागदेव मंदिर तक, पश्चिम में मटन मार्केट रोड तक को छोड़कर शेष निकाय के संपूर्ण क्षेत्र को पवित्र क्षेत्र बनाया है। पवित्र क्षेत्र में मदिरा, मांस, मछली अंडा, एवं अन्य मांसाहारी वस्तुओं के क्रय-विक्रय और पशु वध पर प्रतिबंध लगाया है।

नगर पवित्र क्षेत्र के रूप में विकसित भी नहीं हुआ

नगर को पवित्र क्षेत्र के रूप में विकसित करने के लिए धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग ने अलग-अलग विभागों को जिम्मेदारी दी थी। विभागों ने जिम्मेदारियों का पालन भी नहीं किया है। नगर के प्राचीन मंदिरों को चिन्हांकित कर उनका पंजीयन और रख-रखाव, संपत्ति की सुरक्षा, धार्मिक त्योहारों को चिन्हित कर उत्सव का आयोजन करने की जिम्मेदारी संस्कृति विभाग की है। मंदिरों में श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए विभिन्न सुविधा उपलब्ध कराना नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की है।

संगीत, संस्कृत विद्यालय की स्थापना की जिम्मेदारी शिक्षा विभाग की है। अंडा, मांस के विक्रय, पशु-पक्षियों के प्रति क्रूरता की रोकथाम नगरीय प्रशासन एवं विकास, गृह और पशुपालन विभाग की है। पर्यटन विकास कार्यक्रम की जिम्मेदारी पर्यटन विभाग की है। धर्मशालाओं के लिए रियायती दर पर भूमि आवंटन की जिम्मेदारी राजस्व विभाग को दी। इसके बाद भी नगर में कोई कार्य नहीं हो पाया है।

वार्डों में सर्वे कराकर नियमों का कराएंगे पालन

एसडीएम हरसिमरनप्रीत कौर ने बताया पवित्र नगरी की सीमा में नियमों का पालन कराया जाएगा। किन वार्डों में मांस, मदिरा, अंडा सहित अन्य मांसाहारी वस्तुओं का क्रय विक्रय होता है, सर्वे कराकर पता लगाया जाएगा। इसके बाद प्रतिबंधित क्षेत्र में इन वस्तुओं का क्रय विक्रय नहीं होने दिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें