सुविधा / नपा के 32 में से 28 ट्यूबवेलों में आया पानी, निजी टैंकरों से अब पानी खरीदना किया बंद

मुलताई। नगर पालिका के ट्यूबवेलों का जल स्तर बढ़ने से सुधरी जलप्रदाय व्यवस्था। मुलताई। नगर पालिका के ट्यूबवेलों का जल स्तर बढ़ने से सुधरी जलप्रदाय व्यवस्था।
X
मुलताई। नगर पालिका के ट्यूबवेलों का जल स्तर बढ़ने से सुधरी जलप्रदाय व्यवस्था।मुलताई। नगर पालिका के ट्यूबवेलों का जल स्तर बढ़ने से सुधरी जलप्रदाय व्यवस्था।

  • दो दिन के अंतराल में शुरू हुआ जलप्रदाय, हरदाैली डैम से सप्लाई शुरू हाेते ही मिलेगा राेजाना पानी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

मुलताई. गर्मी में नगर पालिका को निजी टैंकरों से पानी खरीदकर जलप्रदाय करना पड़ता है। अब बारिश शुरू होते ही ट्यूबवेलों का जलस्तर बढ़ने से नपा ने निजी टैंकरों से पानी खरीदना बंद कर दिया है। इस साल मार्च के महीने से नगर पालिका ने निजी टैंकरों से पानी खरीदना शुरू किया था। हर साल जनवरी-फरवरी से जल संकट गहराने लगता है। पिछले साल अच्छी बारिश होने से इस साल नपा के अधिकांश ट्यूबवेलों ने अप्रैल महीने तक साथ दिया। कुछ ट्यूबवेलों का जलस्तर मार्च में कम हो गया था। जिससे नपा ने जल प्रदाय व्यवस्था बनाने के लिए पानी की खरीदी शुरू कर दी थी। शुरू में पांच टैंकर पानी रोज खरीदा गया। इसके बाद टैंकरों की संख्या बढ़ती गई। 15 मई के बाद से 20 जून तक रोजाना 60 टैंकर पानी खरीदना पड़ा। राेजाना पांच हजार लीटर क्षमता वाले 60 टैंकर पानी खरीदकर विभिन्न वार्डों में स्थित टांके में संग्रहित किया जाता रहा। इसके बाद जलप्रदाय किया। पानी की कमी के कारण नगर में 3 से 4 दिन के अंतराल में जल प्रदाय हुआ। अब स्थिति में सुधार आया है। नपा के 32 में से 28 ट्यूबवेलों में दो से ढाई इंच तक पानी आ गया। जलप्रदाय के लिए पर्याप्त पानी मिलने लगा है। 

इधर... 15 मई के बाद से 20 जून तक रोजाना खरीदना पड़ा 60 टैंकर पानी

खरीदी पूरी तरह से बंद 
पानी की कमीं के कारण नगर में तीन से चार दिन के अंतर्राल में जल प्रदाय हुआ। अब स्थिति में सुधार आ गया है। नपा के 32 में से 28 ट्यूबवेलों में दो से ढाई इंच तक पानी आ गया है। जलप्रदाय के लिए पर्याप्त पानी मिलने लगा है। जिससे अब निजी टैंकरों से पानी की खरीदी पूरी तरह से बंद कर दी गई है।

रामनगर में नहीं सुधरी जल प्रदाय व्यवस्था
रामनगर क्षेत्र के लोगों को अभी भी पेयजल समस्या है। क्षेत्र के दो ट्यूबवेलों में अभी भी पानी नहीं आया है। जिससे नगर पालिका इस क्षेत्र में रोजाना 40 हजार लीटर पानी टैंकरों से भेजती है। यहां आधे क्षेत्र में पानी लाइन के माध्यम से दिया जाता है। आधे क्षेत्र में टैंकरों से ही पानी बांटना पड़ रहा है। इसके अलावा पटेल वार्ड के पंप क्रमांक दो में रोजाना पांच टैंकर और भगतसिंह वार्ड के टांके में रोजाना तीन टैंकर पानी भेजा जाता है। इसके बाद इन वार्डों में जलप्रदाय हो रहा है। 

पिछले साल की तुलना में इस साल कम खरीदा पानी
पिछले साल बारिश अच्छी होने से इस साल गर्मी में नगरवासियों को पानी के लिए ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ा।  गर्मी भर नगर पालिका ने अधिकतम रोजाना 60 टैंकर ही पानी खरीदा। पिछले साल गर्मी में निजी टैंकरों से रोजाना 130 टैंकर से अधिक पानी खरीदना पड़ा था। इसके अलावा पिछले साल चंदोरा डैम के डूब क्षेत्र में स्थित कुएं से भी नगर पालिका को पानी लाकर जलप्रदाय करना पड़ा था। इस साल डूब क्षेत्र के कुएं से पानी लाने की जरूरत नहीं पड़ी। 

जलप्रदाय के लिए मिलने लगा पर्याप्त पानी
नपा के उपयंत्री रितेश यादव ने बताया बारिश के चलते नपा के ट्यूबवेलों का जल स्तर बढ़ गया है। जिससे अब जलप्रदाय के लिए पर्याप्त पानी मिलने लगा है। नगर में जलप्रदाय के लिए रोजाना 14 लाख लीटर पानी की आवश्यकता है। ट्यूबवेलों से इतना पानी मिलने लगा है। जिससे निजी टैंकरों से पानी की खरीदी बंद कर दी है। सभी वार्डों में दो दिन के अंतराल में जलप्रदाय किया जा रहा है। जलप्रदाय समय पर हो, इसके लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं।

सांडिया के किसान दे रहे निशुल्क पानी
नगर की पेयजल व्यवस्था सुचारू रखने में सांडिया गांव के किसान खेतों के ट्यूबवेल से निशुल्क पानी उपलब्ध कराते हैं। इस साल भी छह किसानों ने खेतों के ट्यूबवेल से नगर पालिका को पानी उपलब्ध कराया। वर्तमान में भी किसान नपा को पानी उपलब्ध करा रहे हैं। नगर पालिका एक दिन के अंतराल में तीन-तीन किसानों के ट्यूबवेल से पानी ले रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना