पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्माण कार्य:कोरोना कर्फ्यू से 1 से 2 साल तक पिछड़े ब्रिज के काम

होशंगाबाद15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
होशंगाबाद । रसूलिया का निर्माणाधीन फ्लाई ओवर ब्रिज। - Dainik Bhaskar
होशंगाबाद । रसूलिया का निर्माणाधीन फ्लाई ओवर ब्रिज।
  • अब दिसंबर तक काम पूरे होने की जताई जा रही उम्मीद

जिले में चार प्रमुख ओवर ब्रिज के काम कोरोना वायरस के कारण लगाए गए कर्फ्यू की वजह से पिछड़ गए हैं। जनता की सुविधा के लिए बनाए जा रहे उक्त ब्रिज के निर्माण कार्य अब दिसंबर तक पूरे होने की उम्मीद जताई जा रही है। उक्त महत्वपूर्ण ब्रिजों में पिपरिया रेलवे ओवरब्रिज ,धर्मकुंडी रेलवे ओवरब्रिज के टेंडर वर्ष 2016 जुलाई में हुए थे।

उक्त कार्य सितंबर 2020 में पूरे होने थे, वहीं शहर में रसूलिया रेलवे फाटक पर निर्माणाधीन ओवरब्रिज का काम सितंबर 2020 में पूरा कराया जाना था। बुदनी-होशंगाबाद के बीच में नर्मदा ब्रिज का निर्माण कार्य दिसंबर 2020 में पूरा होना था, लेकिन कोरोना कर्फ्यू के कारण मजदूरों की कमी होने से निर्माण कार्य अब तक अधूरे हैं।

विभाग के अधिकारियों के अनुसार पिपरिया और धर्मकुंडी रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण कार्य रेलवे स्लैप नहीं डालने की वजह से रुके हैं। हालांकि सेतु निर्माण विभाग की ओर से इनके निर्माण कार्य पूरे कराए जा चुके हैं। वहीं रसूलिया रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य 2020 में कोरोना कर्फ्यू काल के दौरान बंद रहा।

इसके बाद हाल ही में मार्च से निर्माण कार्य में गति आई थी, लेकिन अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लगने के कारण काम की गति धीमी हो गई है। अधिकारियों के मुताबिक दिसंबर तक ब्रिज के निर्माण का कार्य पूरा करा लिया जाएगा। वहीं नए नर्मदा ब्रिज के निर्माण कार्य के पूरा होने की उम्मीद 2021 के अंत तक जताई जा रही है।

ब्रिज निर्माण से मिलती आमजन को सुविधा

पिपरिया रेलवे ओवरब्रिज, धर्मकुंडी रेलवे ओवरब्रिज और रसूलिया रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण से आमजन को जाम लगने की असुविधा से राहत मिलती। उक्त सभी रेलवे क्रॉसिंग पर जाम लगने की समस्या बनी रहती है। पिपरिया रेलवे क्रॉसिंग पर जबलपुर ,बालाघाट, छिंदवाड़ा आदि क्षेत्रों से वाहनों का आवागमन रहता है।

वहीं रसूलिया रेलवे क्रॉसिंग पर एनएच 69 के चलते नागपुर, भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल के वाहनों का दबाव रहता है। धर्मकुंडी रेलवे क्रॉसिंग पर भी यही हालात यहां ब्रिज निर्माण होने से स्थानीय लोगों को आवागमन में सुविधा मिलती।

खबरें और भी हैं...