लॉकडाउन का असर:लाॅकडाउन हटते ही थोक मंडी में सब्जियों की बंपर आवक

होशंगाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नरसिंहपुर जिले की मंडियां बंद होने के कारण पिपरिया सब्जी बेचने आ रहे किसान

शनिवार और रविवार के लाॅकडाउन का समय पूरा होने के बाद सोमवार को शहर की थोक मंडी में सब्जियों की बंपर आवक हुई है। आवक बढ़ जाने से थोक बाजार में सब्जियों के दामों में दो से पांच रुपए प्रति किलो की कमी आई है। जिसका असर फुटकर बाजार में भी देखने को मिला है। पिपरिया थोक सब्जी मंडी कारोबारी याकूब ने बताया कि किसान खेत में सब्जी रोककर नहीं रख सकता।

लाॅकडाउन के बाद सोमवार को जब बाजार खुला तो किसान शनिवार, रविवार और सोमवार तीन दिन की सब्जी लेकर बाजार आया। सोमवार को सब्जी मंडी में गिलकी, बरबटी, तरबूज, बैगन, टमाटर, आलू, प्याज, हरी मिर्च, पालक, हरी धनिया, फूलगोभी, पत्तागोभी जैसी सब्जियों की बड़ी मात्रा में आवक हुई। थोक सब्जी विक्रेता अनीश खान ने बताया कि उमरधा और धूसरी गांव में आलू और प्याज का अच्छा उत्पादन होता है।

इन दोनों ही क्षेत्रों की सब्जियां नरसिंहपुर जिले की थोक सब्जी मंडियों में जाती हैं। नरसिंहपुर जिले में अभी लाॅकडाउन होने के कारण वहां सब्जी मंडी बंद हैं, इसीलिए उमरधा और धूसरी से आलू-प्याज की गाड़ियां पिपरिया सब्जी मंडी आ गई हैं। उन्होंने बताया बाजार में इस समय जो तरबूज आ रहा है वह छिंदवाड़ा जिले के उमरेठ गांव का है।

पिपरिया में छिंदवाड़ा जिले से बड़ी मात्रा में सब्जियां आती हैं। ग्राम तरौन के कृषक जयसिंह ने बताया कि लाॅकडाउन का हम लोगों पर बहुत गंभीर असर पड़ता है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के पहले हरी धनिया 15 से 20 रुपए किलो बिक रही थी। सोमवार को ज्यादा आवक होने के कारण 10 रुपए किलो बिकी है। इसी प्रकार मिर्ची के दाम भी घटे हैं। किसानों के अनुसार सब्जियों के दामों में औसतन 5 रुपए किलो की कमी आई है।

खबरें और भी हैं...