पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

होशंगाबाद गायों की मौत मामले में एक्शन:गौशाला के संचालक सुजीत गौर पर केस, पशु चिकित्सक को दिया नोटिस , 8 दिन में 9 गाय और 2 बछड़े की हुई मौत, 2 जानवर बीमार

होशंगाबाद/बनापुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गौशाला समिति के संचालक आरोपी स - Dainik Bhaskar
गौशाला समिति के संचालक आरोपी स
  • वीडियो वायरल होने के बाद जागा पशु विभाग
  • जांच करने पहुंचे उपसंचालक पशु व तहसीलदार

होशंगाबाद जिला मुख्यालय से 50 किमी दूर हथनापुर में गौशाला में देख-रेख के अभाव में भूख-प्यास से तड़प-तड़पकर हुई गायों की मौत व उनके शव पड़े होने के मामले में प्रशासन ने तत्काल एक्शन मोड में आया। पशु विभाग ने गौशाला समिति के संचालक/अध्यक्ष सुजीत गौर के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम की धाराओं के तहत सिवनी मालवा थाने में रात 9 बजे केस दर्ज किया। संचालक पर 11 गायों/बछड़ों की देखरेख के अभाव में मौत का आरोप है। वहीं गौशाला की मॉनिटरिंग कार्य में लापरवाही पर पशु चिकित्सक सिवनीमालवा निशांत पटेल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

बताते है हथनापुर में गौशाला करीब दो दशक पुरानी है। जिसका वर्तमान में संचालन श्रीदादाजी गौसेवा सदन व जीवदया केंद्र समिति कर रही। शासन से भी 20 रुपए प्रति गाय के हिसाब से भूसे का भुगतान किया जाता है। कुछ माह पहले ही 2.37 लाख रुपए का शासन से भूसे के लिए भुगतान हुआ। बावजूद गौशाला में व्यवस्था के नाम पर कुछ नहीं है। न गाय-बछडों को समय पर भूसा, पानी मिल रहा न समय पर इलाज किया जा रहा है। इसके अभाव में गायें तड़प-तड़प कर मर रही हैं। इन मृत गायों को परिसर से दो-तीन दिन तक उठाया भी नहीं जा रहा। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर दो दिन से वायरल हो रहा है। शनिवार को दैनिक भास्कर डिजीटल में भी खबर प्रकाशित हुई। जिसके बाद पशु विभाग के उपसंचालक डॉ. जितेंद्र कुल्हारे, तहसीलदार प्रमेश जैन पशु विभाग के अमले के साथ मौके पर पहुंचे।

होशंगाबाद में गौमाता की दुर्दशा:नर्मदापुरम की गौशाला में भूख-प्यास से तड़पकर मर गए गाय-बछड़े, शव तक नहीं उठवाए

समिति के संचालक ने एक दिन पहले ही मृत गायों के सड़े शव को फिंकवाया दिया था। जिससे मौके पर केवल एक गाय व एक बछड़ा मृत मिला। 8 दिन पहले गौशाला में गाय-बछड़ों की संख्या के आधार पर शनिवार को दोबार गिना गया। 9 गाय और 2 बछड़े कम मिले। इस आधार पर केस दर्ज हुआ। देर रात संचालक सुजीत के खिलाफ केस दर्ज हुआ।

देर रात बीमार गायों का इलाज किया गया।
देर रात बीमार गायों का इलाज किया गया।

गौशाला में दो गाय मिली बीमार

शनिवार दोपहर 12 बजे पशु विभाग के उप संचालक जितेंद्र कुल्हारे, तहसीलदार प्रमेश जैन, ब्लॉक पशु चिकित्सक निशांत पटेल स्टाॅफ को लेकर हथनापुर गौशाला पहुंचे। गौशाला का निरीक्षण किया। जिसमें अव्यवस्था मिली। एक गाय व एक बछड़ा मृत मिला। संचालक सुजीत ने बाकी मृत गाये के शव को एक दिन पहले उठवाकर फिकवाना बताया। दो गाय बीमार मिली। जिनका इलाज कराया जा रहा है। रात 9.30 बजे तक उपसंचालक जितेंद्र गौशाला में मौजूद रहे।

सिवनी-मालवा थाने में एफआईआर कराने अधिकारी।
सिवनी-मालवा थाने में एफआईआर कराने अधिकारी।

पर्याप्त भूसा व घास मिला

पशु विभाग के उपसंचालक कुल्हारे ने बताया गौशाला में निरीक्षण में गायों को खिलाने के लिए पर्याप्त भूसा व घास उपलब्ध है। गौशाला में काम करने वाले कर्मचारियों को समिति ने सैलरी नहीं दी। जिससे वे काम करने नहीं आ रहे। 28 मई काे पशु चिकित्सक जानवरों को देखने आएंं थे। 29 मई से 5 जून तक में 9 गाय और 2 बछड़ों की मौत हुई। जानवर बीमार थे तो समिति संचालक बताना चाहिए व देख-रेख की व्यवस्था करना चाहिए था।

खबरें और भी हैं...