दो साल के बालक को गोली लगने का मामला:लाइसेंसी बंदूकधारियों से पूछताछ में नहीं मिला सुराग, अब साइंटिफिक इन्वेस्टिगेशन से आरोपी पकड़ने की तैयारी

होशंगाबाद/बनखेड़ीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दो साल का बालक वंश अब स्वस्थ है। - Dainik Bhaskar
दो साल का बालक वंश अब स्वस्थ है।
  • 20 मई को बनखेड़ी में छत की टीन फाड़कर बालक को लगी थी गोली

जिले के बनखेड़ी के पास तिंदवाड़ा गांव में दो साल के बालक के सिर में गोली लगने के मामले में 25 दिन हो चुके है। बावजूद बंदूक चलाने वाला आरोपी की अब तक पहचान नहीं हो पाई। थाना क्षेत्र के लाइसेंसी बंदूक धारियों से पूछताछ भी हुई, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा। अब पुलिस साइंटिफिक इन्वेस्टिगेशन को महत्वपूर्ण पहलू मान रही है। इसके आधार पर पुलिस आरोपी तक पहुंचेगी।

थाना प्रभारी उमेश तिवारी ने बताया बालक को किस बंदूक से गोली लगी। उसकी तलाश के लिए थाना क्षेत्र के एक-एक लाइसेंसी से पूछताछ कर रहे कि ग्राम तिंदवाड़ा की ओर 20 मई को कौन बंदूकधारी गया था। किसी भी लाइसेंसी से सुराग हाथ नहीं लगा है। साइंटिफिक इन्वेस्टिगेशन की जा रही।इसमें साइबर सेल की मदद ली जा रही।

शादी समारोह, पार्टी में शामिल लोगों से भी हुई पूछताछ

पुलिस ने गोली चलने के मामले में थाना तिंदवाड़ा गांव में 20 मई को हुई शादी समारोह, पार्टी या अन्य कार्यक्रमों में शामिल कुछ लोग व आयोजनकर्ता परिवार के लोगों से भी मौखिक पूछताछ कि कार्यक्रम में कोई बंदूक लेकर आया था या नहीं। कोई भी व्यक्ति बंदूक साथ लेकर कार्यक्रम में शामिल नहीं होना बताया गया।

यह है पूरा मामला

20 मई को तिंदवाड़ा गांव में दोपहर 12 से 1 बजे के बीच में दो साल का बालक वंश पिता हरगोविंद पटेल अपने घर में दादी की गोद में खेल रहा था। अचानक से छत पर लगे टीन की चादर को चीरते हुए गोली आई ओर वंश के सिर में पीछे की तरफ लग गई। घर के बाहर से आवाज आने और वंश के सिर से अचानक खून बहने पर उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। डॉक्टर ने बाहर ले जाने का कहा। नरसिंहपुर में एक्स-रे कराने पर गोली लगने की पुष्टि हुई थी। इसके बाद जबलपुर के अस्पताल में वंश का उपचार कराया था। एक सप्ताह बाद परिजन की सूचना पर बनखेड़ी थाना क्षेत्र में अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया।