• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • CM Shivraj Singh Will Launch The Kalash Yatra From The Memorial Site, Administrative Preparations Incomplete

जननायक टंट्या भील गौरव यात्रा:शिवराज बोले- आजादी की लड़ाई में गलत इतिहास पढ़ाया गया, हम ऐतिहासिक भूल को सुधार रहे; फोकस- कांग्रेस को घेरकर जनजाति वोटर्स पर

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जनसभा को संबाेधित करते मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान। - Dainik Bhaskar
जनसभा को संबाेधित करते मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान।

टंट्या भील गौरव यात्रा को लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने शनिवार को टंट्या भील की जन्मस्थली से माटी कलश यात्रा का शुभारंभ किया। यहां जनसभा कर जनजाति विकास को लेकर कांग्रेस पर निधाना साधा। कहा कि, कांग्रेस ने गलत इतिहास पढ़ाया, अब भाजपा सही इतिहास पढ़ाकर इस ऐतिहासिक भूल को सुधारने का काम कर रही है। अब जनजाति समाज की तकदीर और तस्वीर बदल देंगे।

शिवराज ने जनसभा के दाैरान पूरा फोकस कांग्रेस को घेरे पर रखा। कहा कि, उन्होंने सिर्फ कुछ लोगों को आजादी का श्रेय दिया। बिरसा मुंडा, टंट्या मामा, रघुनाथ शाह ऐसे कई जननायक क्रांतिवीर छूट गए जिन्होंने आजादी की लड़ाई में योगदान दिया था। अब 15 नवंबर को पूरे देश में बिरसा मुंडा के बलिदान दिवस पर जनजाति गौरव दिवस मनाया जाएगा। यह जनजातीय वीर शहीदों के कर्ज चुकाने का प्रयास है।

पातालपानी रेलवे स्टेशन का नाम टंट्या भील होगा

शिवराज ने कहा, टंट्या भील के शहीदी स्थल पातालपानी को नए तीर्थ के रूप में विकसित करेंगे। टंट्या मामा ने आजादी की लड़ाई में भारत माता के लिए अपने आप का बलिदान दिया है। हम उनके सही इतिहास को पढ़ाएंगे।पातालपानी रेलवे स्टेशन का नाम टंट्या भील के नाम पर रखने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा है। इंदौर में बन रहे आईएसबीटी बस स्टैंड का नाम भी टंट्या भील के नाम पर रखा जाएगा।

नेता का स्वागत नहीं, कलश पर चढ़ेंगे फूल

मुख्यमंत्री ने कहा, जननायक टंट्या भील की यह गौरव यात्रा शोषण के खिलाफ लड़ाई की शुरुआत है। हम जनता की जिंदगी बदलने का काम कर रहे हैं। अनुसूचित जाति और जनजातियों की तस्वीर और तकदीर बदलेंगे, जो लोग हमारे साथ हैं उनका स्वागत है, जो हमारा विरोध करेंगे फिर भी हम हमारा यह अभियान जारी रखेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गौरव यात्रा में किसी भी नेता का स्वागत नहीं होगा सिर्फ कलश पर फूल चढ़ेंगे और टंट्या मामा के वंशजों का ही स्वागत किया जाएगा।

इशारा- इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की तरफ

कांग्रेस में एक ही खानदान के नाम पर सबके नाम रख दिए हम अब ऐतिहासिक भूल को सुधार रहे हैं। कांग्रेस सरकार ने एक जनजातीय विश्वविद्यालय बनाया जिसका नाम भी इंदिरा गांधी के नाम पर रख दिया। उन्हें जनजातीय क्रांतिकारीयों का योगदान याद ही नहीं आया। मुख्यमंत्री का इशारा अमरकंटक में बने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की तरफ था। मुख्यमंत्री ने कहा भाजपा सरकार अब टंट्या मामा का सही इतिहास पढ़ाएगी और पातालपानी को एक नए तीर्थ के रूप में विकसित करेगी।

टंट्या मामा की माटी कलश यात्रा का रथ।
टंट्या मामा की माटी कलश यात्रा का रथ।
खबरें और भी हैं...