पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Contribution Will Not Be Deposited If Aadhar Is Not Linked With PF PF Is Cut For 80 Thousand Employees In The District

नए नियम:पीएफ से आधार लिंक नहीं तो जमा नहीं होगा अंशदान; जिले में 80 हजार कर्मचारियों का कटता है पीएफ

हाेशंगाबाद17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हर खाताधारक का पीएफ अकाउंट लिंक होना जरूरी - Dainik Bhaskar
हर खाताधारक का पीएफ अकाउंट लिंक होना जरूरी

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के नए नियमों के अनुसार अब आपको अपने ईपीएफ के यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) के साथ आधार को लिंक करना अनिवार्य होगा। एक जून से नियम बदल गए हैं। खाता आधार से लिंक न होने पर इलेक्ट्रॉनिक चालान कम रिटर्न यानी ईसीआर नहीं भरा जाएगा।

इसलिए आधार लिंक न होने पर कंपनी की तरफ से प्राप्त होने वाले पीएफ शेयर में मिलने में परेशानी खड़ी हो सकती है। खाता लिंक नहीं होने से कर्मचारी को सिर्फ अपना ही ही अंशदान दिखाई देगा। बता दें कि जिले में करीब 80 हजार कर्मचारी हैं जिनका पीएफ कटता है।

वेबसाइट पर अकाउंट को कर सकते हैं आधार से लिंक
आपको कुछ नहीं करना है, बस ईपीएफओ की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आधार कार्ड से अपने खाते को लिंक करना है और यूएएन को आधार से वेरिफाई करना है। अगर आप ऐसा करने से चूकते हैं तो आपको भविष्य में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

इस तरह पीएफ इकाउंट से लिंक करें आधार

  • सबसे पहले ईपीएफओ पोर्टल epfindia.gov.in पर जाना होगा।
  • ईपीएफओ की ऑफिशियल वेबसाइट epfindia.gov.in पर लॉगइन करें।
  • ऑनलाइन सर्विस विकल्प में ई. केवाईसी पोर्टल पर जाएं और लिंक यूएएन आधार पर क्लिक करें।
  • इसके बाद यूएएन नंबर और पंजीकृत मोबाइल नंबर डाले अब आपको ईपीएफओ के पंजीकृत नंबर पर ओटीपी मिलेगा।
  • यहां आपको ओटीपी और 12 अंकों वाले आधार नंबर को डालकर सब्मिट बटन दबाएं
  • ओटीपी वेरिफिकेशन विकल्प पर भी क्लिक करें।
  • आधार वेरिफिकेशन के लिए आधार से लिंक मेल के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी को लिखें।
  • ईपीएफओ आपके आधार. ईपीएफ लिंकिंग के लिए आपकी कंपनी से संपर्क करेगा। आपके आधार सीडिंग को ईपीएफ खाते से प्रमाणित कर देगा तो ईपीएफ खाता आधार से लिंक हो जाएगा।

एम्लायर की है जिम्मेदारी
यह नियम छह साल पहले ही बन चुका था लेकिन 1 जून से अनिवार्य कर दिया गया है। इस बारे में कर्मचारियों के लिए नोटिफिकेशन भी जारी किया जा चुका है। इस काम की जिम्मेदारी नौकरी देने वाली कंपनी यानी एम्पलॉयर की होगी कि वो अपने कर्मचारियों से कहे कि वे अपना पीएफ आधार से वेरिफाई करवाएं। 1 जून के बाद से वेरिफाइड नहीं किया गया है तो ऐसी स्थिति में इलेक्ट्रॉनिक चालान और रिटर्न (ECR) नहीं भरा जा सकेगा।

खबरें और भी हैं...