कोरोना के आफत भरे समय में थोड़ी राहत:संक्रमण दर में गिरावट के साथ मृत्यु दर में कमी, पिपरिया अस्पताल की ओपीडी में घट रहे मरीज

होशंगाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ब्लॉक के आसपास कोरोना का प्रकोप थोड़ा कम

कोरोना संक्रमण से नगर में लोगों को कुछ राहत मिलती नजर आ रही है। शहर में जहां मौतों की संख्या कम हो गई है। वहीं संक्रमण की दर भी काफी घट चुकी है। यही नहीं सरकारी अस्पताल में रोजाना मरीजों की जो भीड़ नजर आ रही थी वह भी धीरे धीरे कम होने लगी है।
मृत्यु दर में गिरावट
कोरोना संक्रमण के चलते कुछ दिन पहले शहर के दोनों श्मशान घाटों में यह आलम था कि चिता की आग 24 घंटे जल रही थी। रोजाना डेढ़ से दो दर्जन के आसपास चिताएं श्मशान घाटों में जल रही थी। पिछले एक सप्ताह से मृत्यु दर में गिरावट आई है।

नगर पालिका सीएमओ विनोद कुमार प्रजापति ने बताया कि पिछले एक सप्ताह में रोजाना चार से पांच शव जलाए जा रहे हैं। बीच में मंगलवार ऐसा दिन आया था जब दोनों श्मशान घाटों में 11 चिताएं जली थी। इसके बाद से दो से चार के बीच शवदाह हो रहे हैं। लगता है मृत्यु दर में गिरावट आई है।
संक्रमण की दर घटी
एसडीएम पिपरिया नितिन टाले के अनुसार तुलनात्मक रूप से कहा जा सकता है कि कोरोना संक्रमण का प्रकोप कम हुआ है। पहले संक्रमण के जितने मामले में हो रहे थे, उनमें बहुत ज्यादा कमी आई है। एसडीएम टाले ने बताया कि पहले हम 20 लोगों का टेस्ट कर रहे थे तो उनमें से 14 से 15 लोग संक्रमित मिल रहे थे।

यह जांच की गई संख्या का 75% होता है। वर्तमान में टेस्टिंग चालू है और यदि 35 लोगों की टेस्टिंग की जा रही है। उसमें 6 या 7 केस पॉजिटिव आ रहे हैं। जोकि की जाने वाली जांच का 22% है। टाले ने कहा कि पूर्व में जहां कोरोना संदिग्ध मरीज में से 75% लोग संक्रमित मिल रहे थे, अब संक्रमण की दर 22% मानी जा सकती है। फिलहाल कोरोना संक्रमण के मामले कम होते नजर आ रहे हैं।
मरीजों की संख्या घटी
शासकीय अस्पताल पिपरिया आने वाले मरीजों की संख्या में भी कमी आई है। तहसीलदार राजेश बोरासी ने बताया कि कुछ दिन पहले लगभग 200 मरीज रोजाना सरकारी अस्पताल इलाज कराने या जांच कराने के लिए आ रहे थे। वर्तमान में 110 के आसपास मरीज अस्पताल आ रहे हैं। ऐसा लगता है कि संक्रमण की गति पर असर पड़ा है।

खबरें और भी हैं...