पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीजर से हुई डिलेवरी में पेट में छूटा प्लेसेंटा:रेवा नर्सिंग हाेम के डाॅक्टराें की डाॅक्टर दंपती ने सीएमएचओ और पुलिस से की शिकायत

होशंगाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रकीतमक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रकीतमक फोटो

रेवा नर्सिंग हाेम में महिला डाॅक्टर की सीजेरियन डिलेवरी के दौरान पेट में 5.1 सेमी के प्लेसेंटा (शिशु की नाभि से जुड़ी नली) पेट में छाेड़े जाने की लापरवाही का मामला सामने आया है। डाॅक्टर दंपती डाॅ. स्मृति पांडे और डाॅ. गाैरव पांडे ने नर्सिंग हाेम के डाॅक्टराें की लापरवाही की सीएमएचओ और पुलिस में शिकायत की है।

डाॅ. गाैरव पांडे ने बताया उनकी पत्नी डाॅ.स्मृति पांडे काे 16 जून काे मैने उन्हें रेवा नर्सिंग हाेम में डिलेवरी के लिए भर्ती किया था। डाॅक्टर ने सीजर से डिलेवरी हाेने की बात कही थी। इसके बाद डिलेवरी की गई। 20 जून काे डिस्चार्ज कर दिया गया। 23 जून काे पत्नी काे तेज ब्लीडिंग हाेने लगी। अस्पताल पहुंचे ताे सामान्य जांच की। फिर 27 जून काे ऑपरेशन के टांके कटवाने गए। बेटी के जन्म के बादपूजन के लिए रीवा चले गए। वहां पत्नी काे दर्ज और ब्लीडिंग हुई। रीवा में कराई जांच में पता चला कि डिलेवरी के बाद 5.1 सेमी का प्लेसेंटा बाहर नहीं निकाला गया। कैंसर के इंजेक्शन दिए ताकि प्लेसेंटा निकल सके। इसके बाद नागपुर में डाॅक्टराें काे दिखाया जहां पर प्लेसेंटा निकाला गया। इससे प्रसूता डाॅ. स्मृति पांडे काे कई परेशानियाें का सामना करना पड़ रहा है।

डाॅक्टर बाेले- कई बार प्लेसेंटा एकरेटा चिपका रह जाता है

रेवा नर्सिंग हाेम के गायनिक डाॅ. ईशान श्रीवास्तव ने बताया यह प्लेसेंटा एकरेटा का मामला है यह यूट्रस में चिपिका रहता है। किसी काे ज्यादा चिपक जाता है। इस कंडीशन में कभी कभी यूट्रस भी निकालना पड़ता है। ऐसा बहुत कम ही हाेता है। एकरेटा एमआरआई से क्लीयर हाेता है। लेकिन इसे रेयर कंंडीशन में करते हैं। हमने इमरजेंसी सीजर किया था। जितना निकाल सकते थे निकाल लिया, ज्यादा निकालते ताे ब्लडिंग हाेती और यूट्रस निकालना पड़ता। सीजर भी इसलिए करना पड़ा क्याेंकि गर्भ में बच्चे ने न्यूकाेनियम छाेड़ दिया था। उन्हें परेशानियां हुई ताे उन्हें हमसे मिलना था। वे रीवा चले गए हमसे फाेन पर बात हुई ताे परिचित डाॅक्टर से ट्रीटमेंट करवाया। फाॅलाेअप नहीं करवाया।

मैं पिपरिया में हूं। अभी मेरे पास काेई शिकायत नहीं आई है। शिकायत मिलते ही इस संबंध में कार्रवाई की जाएगी। -डाॅ.प्रदीप माैजेस,सीएमएचओ

डाॅक्टर पांडे ने आवेदन दिया है, जिसमें डिलेवरी के बाद प्लेसेंटा छाेड़ने की बात है। जांच करेंगे। डाॅक्टर से दस्तावेज मांगे हैं।-संताेष सिंह चाैहान,टीआई

खबरें और भी हैं...