पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मरम्मत कार्य:रेल लाइन के किनारे नाली और दीवार का काम शुरू, तीसरी रेल लाइन पर अभी बंद है ट्रैफिक

हाेशंगाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बारिश का पानी भराने के कारण हुआ था कटाव

इटारसी से बुदनी तक बनकर तैयार हाे चुकी थर्ड रेल लाइन पर नर्मदा ब्रिज के पास 20-22 अगस्त काे पिचिंग में कटाव आ गया था। तीसरी रेल लाइन और पुरानी रेल लाइन के बीच पानी भराने से पिचिन में कटाव और मिट्टी धंसक गई थी। पिचिन की मिट्टी धंसकने और कटाव हाेने के कारण रेलवे ने तीसरी रेल लाइन से ट्रेनों की आवाजाही 20 अगस्त से ही काे राेक दिया था। अभी भी थर्ड रेल लाइन से ट्रेन ट्रैफिक शुरू नहीं किया गया है।

अब रेल विकास निगम द्वारा तीसरी रेल लाइन की पिचिन की मिट्टी में कटाव और मिट्टी धंसकने वाले स्थानाें में सुधार कार्य किया जा रहा है। पिचिंग की मिट्टी में कटाव भाेपाल की ओर बीटीआई गुरुकुल रेलवे डबल फाटक क्रमांक 235 से नर्मदा नदी के ब्रिज के बीच में हुआ था। कटाव करीब 1 किमी मीटर क्षेत्र में हुआ था। अब यहां पर नाली बनाने का काम किया जा रहा है।

ताकि भविष्य में कभी पानी भराने की स्थिति बने ताे पानी का भराव रेल लाइन के पास नहीं हाे। सीनियर सेक्शन इंजीनियर एके उपाध्याय ने बताया अगस्त महीने में बारिश का पानी भराने के कारण पिचिंग से सीपेज हाेने के कारण मिट्टी में कटाव हुआ है। इसकी सूचना लगते ही हमने रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) काे दी थी। आरवीएनएल ने पुराने और तीसरी रेल लाइन के ट्रैक के पास सीमेंट की नाली बनाने का काम शुरू कर दिया है। करीब 700 मीटर की यह नाली बनाई जा रही है।

खबरें और भी हैं...