• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Failed Without Taking The Exam, The Student Said, Failed Due To The Mistake Of The College Management, Did Not Inform About The Examination

होशंगाबाद में अभाविप का ITI कॉलेज में धरना:बगैर परीक्षा लिए किया फेल, विद्यार्थी बोले, कॉलेज प्रबंधन की गलती से किया फेल, परीक्षा की नहीं दी सूचना

होशंगाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ITI कॉलेज गेट पर नारेबाजी करते अभाविप के कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
ITI कॉलेज गेट पर नारेबाजी करते अभाविप के कार्यकर्ता।

होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा में शासकीय आईटीआई में सोमवार दोपहर 12 बजे से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का धरना जारी है। बगैर परीक्षा लिए फेल होने से नाराज संगठन के कार्यकर्ता व विद्यार्थी आईटीआई काॅलेज प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे है। विद्यार्थियों का कहना है कि कॉलेज प्रबंधन की लापरवाही और लेटलतीफी के कारण विद्यार्थियों को फेल किया। विद्यार्थियों का कहना है फेल हुए विद्यार्थियों की दोबारा परीक्षा लेने का आज ही निर्णय हो। उसके बाद ही हम धरना खत्म करेंगे। कॉलेज प्रबंधन मनाने की कोशिश कर रहा। लेकिन करीब डेढ़ घंटे से अपनी मांगों को लेकर धरने पर अड़े हुए है

अभाविप के नगर मंत्री मोहित यदुवंशी ने बताया कोपा और इलेक्ट्रानिक्स ट्रेड की परीक्षा 12 अप्रैल को हुई। परीक्षा की सूचना 11 अप्रैल की रात 11 बजे आई। लेकिन कॉलेज प्रबंधन द्वारा विद्यार्थियों को परीक्षा की जानकारी नहीं दी गई। जिससे 23 विद्यार्थी ( कोपा के 18 और इलेक्ट्रानिक्स के 5) परीक्षा देने से वंचित रहे गए। एक सप्ताह बाद 18 अप्रैल को अभाविप ने परीक्षा की सूचना विद्यार्थी तक नहीं पहुंचाने के बारे में पूछने कॉलेज प्रबंधन ने कहा था कि आईटीआई के कुछ कर्मचारी को कोरोना हो गया, जिस कारण से जानकारी नहीं दे पाएं। इसलिए दोबारा परीक्षा कराने का आश्वासन दिया था। लेकिन 6 महीन होने पर भी परीक्षा नहीं ली गई, परीक्षा परिणाम घोषित हुआ। जिसमें वे सभी विद्यार्थी फेल हो गए। जो परीक्षा देने से वंचित रह गए। इस बात को लेकर सोमवार दोपहर 12 बजे अभाविप के नगर अध्यक्ष प्रदुम्मन तिवारी के नेतृत्व में कार्यकर्ता व विद्यार्थी ITI काॅलेज में धरना देने पहुंचे। कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ सभी ने नारेबाजी कर रहे। डेढ़ घंटे से विद्यार्थी धरने पर बैठे है। इस दौरान नगर अध्यक्ष, नगर मंत्री मोहित यदुवंशी, आदर्श राजपूत, जितेंद्र यादव, सोहन सिंह राजपूत, लोकेश सिंह राजपूत, धर्मेंद्र, नितिन रघुवंशी, सेजल गौर, वंदना बकोड़या, निधि सराठे, सीमा धुर्वे, रितिका लोवंशी शामिल रहे।

दोबारा परीक्षा कराने का निर्णय उच्च कार्यालय से होगा

सिवनी-मालवा आईटीआई के प्रभारी प्रशिक्षण अधीक्षक राजेश राठौर ने कहा परीक्षा की सूचना एक दिन पहले रात 11 बजे हमें आई। प्रदेशभर के कई विद्यार्थी उस समय परीक्षा देने से छूट गए थे। दोबारा परीक्षा कराने का निर्णय हम नहीं ले सकते। वंचित रहे विद्यार्थियों की दोबारा परीक्षा देने उच्च कार्यालय को 7 बारे लिख चुके है। उच्च कार्यालय से ही कोई निर्णय होगा।

खबरें और भी हैं...