पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कालाबाजारी:किसानों के नाम का फर्जी उपयोग, साढ़े तीन एकड़ जमीन के लिए दिखाया 350 बोरी यूरिया

हाेशंगाबाद10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूरिया की 1500 बाेरी से भरे 3 ट्रक जब्ती का मामला, छिंदवाड़ा किया जा रहा था सप्लाई

पिपरिया में 1500 बाेरी यूरिया लेकर रायसेन से छिंदवाड़ा जा रहे तीनाें ट्रक ड्राइवराें पर पुलिस ने केस दर्ज किया है। ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एसएस कौरव ने बताया तीनों ट्रक में कुछ बिल मिले हैं। इनमें जमीन से कई गुना यूरिया खरीदा जाना दिखाया गया है। सैकड़ों बोरी यूरिया के बिल नहीं मिले हैं। थाना मंगलवारा में जो ट्रक खड़ा है उसमें किसानों के नाम से काटे गए दो बिल मिले हैं।

इन किसानों के पास साढ़े तीन एकड़ जमीन है और इनके द्वारा 350 बोरी यूरिया लिया जाना बताया गया है। शुरुआती जांच में सामने आ रहा है कि यूरिया की कालाबाजारी करने वाले लाेग किसानों के नाम का इस्तेमाल कर यूरिया की तस्करी कर रहे थे। उपसंचालक कृषि जितेंद्र सिंह ने बताया तीन ट्रकों में मिले 1500 बोरी यरिया और 16 लीटर कृषि दवा की खरीदी कर अवैध परिवहन का मामला बना है। प्रकरण बनाकर भाेपाल भेज दिया है। 

जमीन के दस्तावेज चेक  होने पर मिलता है यूरिया
शासन के निर्देश हैं कि सोसायटी या प्राइवेट दुकान किसी भी व्यक्ति को यूरिया देने के पहले उस व्यक्ति का आधार कार्ड और जमीन के कागजात चेक किए जाएं। इसके बाद थंब मशीन पर अंगूठे का निशान लिया जाएगा। इसके बाद प्रतिएकड़ एक बाेरी यूरिया देने का प्रावधान है। जाे यूरिया मिला है वह मानक से ज्यादा है। 

पुलिस ने तीनों ट्रक के इन ड्राइवरों पर दर्ज किया केस
ट्रक एमपी 09 एचजी 8425 के चालक कमल मालवीय (कढ़ेली उदयपुरा) पर केस दर्ज किया। ट्रक में 600 बोरी यूरिया था। चालक वसीम खान बरेली और जितेंद्र कनौजिया छिंदवाड़ा पर केस दर्ज किया है। ये ट्रक एमपी 09 एचएच 0955 में 600 बोरी और मिनी ट्रक क्रमांक एमपी 28 जी 4621 में 300 बोरी यूरिया ले जा रहे थे। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें