सहकारी बैंक / किसान 31 अगस्त तक चुका सकते हैं कर्ज, तभी मिलेगा उधार खाद-बीज

Farmers can repay the loan till 31 August, only then the loan will be given to manure and seeds
X
Farmers can repay the loan till 31 August, only then the loan will be given to manure and seeds

  • 151 समितियों से जुड़े किसानों के लिए राहत

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

हाेशंगाबाद. जिला सहकारी बैंक की हरदा अाैर हाेशंगाबाद जिले में 151 सहकारी समितियाें से खाद-बीज का कर्ज लेने वाले किसानाें काे कर्ज चुकाने के लिए सरकार ने 31 अगस्त तक का समय दे दिया है। इससे सहकारी बैंक काे किसानाें के अन्य बैंकाें के खाताें में गई राशि काे लेने के लिए समय मिल जाएगा। वहीं किसानाें काे समय पर राशि जमा करने पर नया कर्ज अाैर उधार में खाद बीज मिलने की सुविधा मिल सकेगी। इस राहत से किसानाें काे नए कर्ज मिलने में देरी के साथ ही किसानाें काे खाद बीज नकद में लेना हाेगा। जिला सहकारी बैंक से कर्ज लेने वाले किसानाें ने कर्ज माफी के बाद भी 150 कराेड़ की राशि एनपीए हाेकर कालातीत कर्ज में शामिल हाे गई है। वर्तमान में पिछले वर्ष के 154 कराेड़ रुपए के किसान कर्ज में से जिला सहकारी बैंक काे 104 कराेड़ रुपए की राशि की वूसली में सफलता मिली है। वहीं पिछले दाे वर्ष में एनपीए हुए कालातीत कर्ज में से भी इस वर्ष 50 कराेड़ रुपए की वसूली किसानाें से बैंक ने कर ली है। जिला सहकारी बैंक के सीईअाे अारके दुबे ने बताया किसानाें काे कर्ज जमा करने के लिए 31 अगस्त तक की राहत सरकार ने दी है। वहीं अभी तक किसानाें से 154 कराेड़ रुपए की वसूली के साथ 14 कराेड़ रुपए का नया कर्ज भी वितरित कर दिय है। 

इधर, 18 कराेड़ रुपए की रिकवरी ने बढ़ाई टेंशन

जिला सहकारी बैंक की सोसायटियों के फंसे 18 करोड़ रुपए की रिकवरी के लिए समिति प्रबंधक और बैंक अधिकारी किसानों के चक्कर लगा रहे हैं। किसानों से विड्राॅल फॉर्म भरवाए जा रहे हैं। गोरा सहित अन्य पंचायतों में समिति संचालक विड्रॉल फॉर्म भरवाने पहुंचे। कई किसान अपनी स्वेच्छा से राशि लौटा रहे हैं। 

किसान कह रहे-अगली फसल में ले लेना रुपए
पिपरिया| कृषक सेवा सहकारी समितियों को कर्ज वसूली में मिले लगभग पौने दो करोड़ रुपए फिलहाल उलझ गए हैं। पिपरिया क्षेत्र में 8 कृषक सेवा सहकारी समितियां हैं। सूत्रों ने बताया किसानों से कर्ज वसूली के रूप में लगभग 7 करोड़ 36 लाख रुपए की राशि काटी गई थी। यह राशि वापस किसानों के बैंक खातों में पहुंच गई है। समिति प्रबंधक किसानों से संपर्क कर विड्राॅल फाॅर्म लेने का प्रयास कर रहे हैं। कई किसान कह रहे हैं अगली फसल पर ले लेना।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना