तवाडैम की बायीं ओर नहर आज छोड़ा पानी:होशंगाबाद, हरदा के किसानों को गेहूं, चने के लिए 120 दिन मिलेगा पानी, 200 क्यूसेक पानी छोड़ा

होशंगाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नर्मदापुरम होशंगाबाद के तवाडैम से किसानों के लिए 28 अक्टूबर आज से मुख्य नहर में पानी छोड़ा जाएगा। गुरुवार शाम 5.15 बजे रबी सीजन की गेहूं, चना फसलों में सिंचाई के लिए पानी छोड़ा गया। पहले दिन 200 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसके बाद डिमांड अनुसार हर दिन 150 से 200 क्यूसेक रोज बढ़ाया जाएगा।

जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री आईडी कुमरे ने बताया कि फिलहाल सिवनी-मालवा के किसानों की डिमांड आई है। इसलिए आज शाम 5.15 बजे सिंचाई के लिए 200 क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा। हरदा जिले अभी डिमांड नहीं आई है। 30 अक्टूबर के बाद मांग अनुरूप पानी में वृद्धि की जाएगी। बता दें कि जल संसाधन विभाग के अनुसार फिलहाल तवा डेम में 101 फीसद पानी है। तवा डेम की जलभराव क्षमता 1944 मिलियन क्यूसेक मीटर है, जबकि तवा डेम में 1967 मिलियन क्यूसेक मीटर जलभराव हुआ है। उन्होंने बताया कि तवा बांध परियोजना से वर्ष 2020-21 के लिए होशंगाबाद जिले का प्रस्तावित सिंचाई रकबा लक्ष्य 1,59,277 हेक्टेयर है तथा हरदा जिले के लिए प्रस्तावित रकबा लक्ष्य 1,02,254 हेक्टेयर है।

सिंचाई के लिए 120 दिन मिलेगा पानी

मुख्य नहर से हरदा-होशंगाबाद जिले के किसानों को 120 दिन सिंचाई के लिए पानी मिलेगा। पिछले साल 22 अक्टूबर को पानी छोड़ा गया था। 123 दिनों तक किसानों को नहर से पानी मिला था। 28 अक्टूबर से चार माह यानि 120 दिन तक सिंचाई के लिए किसानों को पानी मिलेगा।

खबरें और भी हैं...