पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी:केंद्र में किसानों से हो रही थी 4 किलो गेहूं की अधिक तुलाई, बनाया पंचनामा

होशंगाबाद16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बनखेड़ी। खरीदी केंद्र की जानकारी लेते हुए तहसीलदार। - Dainik Bhaskar
बनखेड़ी। खरीदी केंद्र की जानकारी लेते हुए तहसीलदार।
  • बनखेड़ी के कुर्सीढाना खरीदी केंद्र में हो रही किसानों से धांधली

खरीदी केंद्र कुर्सीढाना में निर्धारित मात्रा से अधिक तुलाई का मामला सामने आया है। 50 किलो 600 ग्राम के निर्धारित मात्रा से 4 किलो तक उपज अधिक ताैल कर किसानों से साथ ठगी की गई है। मामले की जानकारी लगते ही तहसीलदार अपनी टीम के साथ मौका स्थल पहुंचे। प्रांगण में भरे रखें बारदानों को पुनः तुलवाकर देखा तो 3 से 4 किलो तक अधिक वजन मिला। ऐसे बारदानें करीब 2 हजार तक हो सकते हैं। तहसीलदार ने समिति प्रबंधक के खिलाफ पंचनामा तैयार किया है। वहीं सभी बारदानों का वजन निर्धारित मात्रा में करने का कहा है। कुर्सीढाना में सहकारी समिति ईशरपुर द्वारा तुलाई कराई जा रही है।

किसानों को शंका होने पर शनिवार रात को उपज से भरे रखें बारदानों को तौल कर देखा गया। बारदानों में अधिक मात्रा में उपज मिलने पर हेराफेरी मिली। मामला सांसद राव उदय प्रताप सिंह तक जा पहुंचा। रविवार को तहसीलदार राजीव कहार, सुपरवाइजर देवेंद्र शुक्ला मौका स्थल पहुंचे और किसानों के समक्ष पंचनामा तैयार किया। तहसीलदार राजीव कहार ने बताया कि ईशरपुर समिति प्रबंधक सुरेश रघुवंशी पर आर्थिक क्षति का पंचनामा तैयार किया है।

कार्रवाई के लिए प्रस्ताव एसडीएम के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। वहीं समिति प्रबंधक सुरेश रघुवंशी ने बताया कि केंद्र प्रभारी, ऑपरेटर सहित मैं अस्वस्थ चल रहा हूं। कुर्सीढाना का देखरेख फिलहाल चौकीदार के भरोसे है। गड़बड़ी केवल शुक्रवार शाम को प्राप्त जूट के बारदानों में हुई है। संभवतः तौल कांटे से छेड़छाड़ प्रतीत होता है। जितने भी बारदानों में निश्चित मात्रा से अधिक उपज की तुलाई हुई है, सभी को निर्धारित मात्रा में किया जा रहा है।

पिपरिया के किसानों ने की मंडी में चना नहीं खरीदने की शिकायत
होशंगाबाद| पिपरिया के ग्राम जमाला के किसानों ने बताया कि पिपरिया में अनाज खरीदी केंद्र पांडव वेयर हाउस अपना चना बेचने के लिए गए थे, लेकिन उन्हें यह कहकर लौटा दिया गया कि चना खरीदी अब नहीं हो सकती। केवल 29 अप्रैल तक ही चना खरीदी की जा रही थी। पिपरिया सहकारी समिति के प्रबंधक प्रमोद पुरोहित ने बताया कि चना बेचने के लिए कोई किसान फिलहाल आया ही नहीं है। खरीदी बंद नहीं की गई है लेकिन बीमारी और गेहूं की बिक्री के चलते चना बेचने फिलहाल किसान नहीं आए हैं। कोरोना कर्फ्यू के दौरान मंडी बंद चल रही है। दो खरीदी केंद्र बनाए गए हैं।

इन खरीदी केंद्रों में गेहूं की खरीदी की जा रही थी पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के कारण आवक कम हुई है यदि कोई किसान फसल बेचने पहुंचता है तो उसकी फसल खरीदी जाएगी। जमाला के किसान रेवा शंकर और हरि पटेल ने बताया कि वे चना बेचने के लिए पांडव वेयरहाउस गए थे। जहां उन्हें यह कहकर लौटा दिया गया कि 29 अप्रैल तक ही चने की खरीदी हो रही थी। उसके बाद उन्होंने समिति प्रबंधन से भी बात की। लेकिन समिति ने भी उन्हें मना कर दिया ।हालांकि रविवार की शाम किसानों के पास खरीदी का मैसेज आया है इसकी सूचना किसानों ने फोन पर दी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें