महिला डॉक्टर को परेशान करने का मामला:शिकायत के 5 दिन बाद भी दर्ज नहीं हुई FIR, कार्रवाई से बच रहे पुलिस अफसर

होशंगाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में महिला डॉक्टर को अश्लील इशारे करने का मामले में पुलिस कार्रवाई से बच रही है। शिकायत के 5 दिन बाद भी महिला थाने में अभी तक न FIR हुई और न ही आरोपी युवक की पहचान हो पाई है। पीड़िता को पुलिस मोबाइल कॉल पर मामले को टाल रहे हैं। महिला संबंधी गम्भीर मामले में पुलिस की देरी समझ से परे है।

एक महिला डॉक्टर ने 5 दिन पहले महिला थाने में लिखित शिकायत की। महिला डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि युवक मदद मांगने के बहाने अकेली युवती, महिलाओं को रोककर इशारा कर भाग जाता है। बदमाश ने मेरे साथ भी दो बार हरकत की। एक बार 12 साल की बच्ची से भी रास्ते में हरकत की थी। एक ओर महिला के साथ उसने यही हरकत की। 4 अक्टूबर को चक्कर रोड पर फिर से आरोपी ने डॉक्टर को रोककर कोचिंग क्लास का पता पूछने की जानकारी ली।

उस दिन डॉक्टर ने चुपचाप अपने मोबाइल से उसकी तस्वीर ली, तो वह भाग निकला। मामले में महिला डॉक्टर ने 5 अक्टूबर को महिला थाने में लिखित शिकायत की। 5 दिन बाद भी एफआईआर नहीं हो पाई है। इस मामले में महिला थाना प्रभारी सुरेखा निमोदा से बात करने कॉल किया। लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। पीड़िता ने कहा कि आज शाम को मुझे थाने में बुलाया है।

पीड़िता को थाने बुलाकर करेंगे कार्रवाई महिला सेल प्रभारी डीएसपी आशुतोष पटेल ने कहा कि जब आवेदन आया था। उसके अगले ही दिन पीड़िता को थाने बुलाया था। तब व्यस्त होने से उन्होंने एक दो दिन बाद का समय दिया है। महिला थाना निरीक्षक एक मामले की पेशी पर जिले से बाहर थी। आज पीड़िता को थाने बुलाया है। जल्द कार्रवाई करेंगे।