• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Food Festival Program Today: Assam's Food Minister, Minister In Charge Will Attend, Main Program Will Be Held In Sambalkheda, 10 Kg Ration Will Be Available In Bags With Photos Of Modi, Shivraj

अन्न उत्सव कार्यक्रम:PM मोदी ने डोर-टू-डोर लेडीज सामान बेचने वाली माया उइके से कहा, बच्चे को खूब पढ़ाओं, वे बड़ा करके दिखाएंगे, महिला ने कहा कोरोना काल में फ्री राशन मददगार बना

होशंगाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
होशंगाबाद की माया उईके से पीएम से संवाद करते हुए। - Dainik Bhaskar
होशंगाबाद की माया उईके से पीएम से संवाद करते हुए।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत शनिवार को होशंगाबाद सहित प्रदेशभर में अन्न उत्सव कार्यक्रम हुआ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने होशंगाबाद जिले के सांवलखेड़ा की डोर-टू-डोर लेडीज सामान बेचने वाली माया उइके से बात की। सबसे पहले पीएम ने जय जौहार कहते हुए बातचीत शुरू की। उन्होंने हमें स्वयं मजदूरी करती और पूरे परिवार को चलाती है। लॉकडाउन के कार्यकाल में क्या दिक्कतें आई होगी। रोजी-रोटी और बच्चों की पढ़ाई के बारे में पूछा। महिला ने मेरी छोटी सी लेडीज सामान की दुकान है और कुछ गांवों में जाकर सामान बेचती हूं। पीएम ने कहा उदाहरण देते हुए कहा टोक्यो ओलिंपिक में हॉकी में बेटियों ने कमाल कर दिया। टीम में कई बेटियां गरीब परिवार से थीं, लेकिन पढ़े और आगे बढ़े। आप भी बच्चों को पढ़ाएंगे, तो वे बड़ा करके दिखाएंगे। पीएम ने करीब 2.54 सेकंड बात की।

जिला स्तरीय अन्न उत्सव कार्यक्रम मुख्यअतिथि असम के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रंजीत कुमार दास, मप्र के खनिज मंत्री व जिला प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने भी मंच से भाषण दिया। खाद्य मंत्री ने कहा मप्र में राशन वितरण की यह व्यवस्था देखने मैं यहां आया हूं। हम असम मैं भी योजना बना इसी तरह व्यवस्था राशन वितरण करेंगे। कार्यक्रम में विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा, प्रेमशंकर वर्मा, भाजपा जिला अध्यक्ष माधव अग्रवाल, कलेक्टर धनंजय सिंह, एसपी संतोष सिंह गौर सहित तमाम अलावा अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। शनिवार को जिलेभर की 442 उचित मूल्य दुकानों पर एकसाथ अन्न उत्सव का कार्यक्रम हुआ।

PM बोले, कोरोना काल में क्या दिक्कतें आई

माया उईके (होशंगाबाद) से PM ने पूछा- आप मजदूरी करती हैं। परिवार को भी चलाती हैं। कोरोना काल में क्या दिक्कतें आई। माया ने कहा- हां सर। मुझे दिक्कतें आई। 5 माह में मिला निशुल्क गेहूं, चावल काफी मददगार बने। PM ने उनकी पढ़ाई, किन गांवों में सामान बेचने जाने के बारे में पूछा तो माया ने कहा कि आठवीं तक पढ़ाई की है। घर पर एक छोटी सी दुकान है, आसपास के गांवों में ही सामान बेचने जाती हूं। पीएम ने पूछा कि घर में बिजली-पानी की सुविधा है और पक्का घर है या नहीं। या फिर मुसीबत से गुजरना पड़ रहा है। अंधेरे में तो नहीं रहना पड़ रहा। इस पर माया ने कहा कि लाइट नहीं जाती। पानी के लिए हैंडपंप है। दोनों बेटे सरकारी स्कूल में पढ़ रहे हैं। पढ़-लिखकर बड़े आदमी बनेंगे। यह सुन पीएम ने कहा कि टोक्यो में हॉकी में बेटियों ने कमाल कर दिया। कई गरीब थीं। बच्चों को पढ़ाएंगी, तो वे बड़ा करके दिखाएंगे। माया ने कहा पीएम से बात कर मुझे अच्छा लगा। परिवार और कामकाज के बारे में बात की। उन्होंने बच्चों को पढ़ाने की बात कही है। मैं और मेरे पति बच्चों को अच्छी शिक्षा देंगे।

असम के खाद्य मंत्री एवं जिला प्रभारी मंत्री ने राशन वितरित किया।
असम के खाद्य मंत्री एवं जिला प्रभारी मंत्री ने राशन वितरित किया।
खबरें और भी हैं...