होशंगाबाद में फिर खाकी दागदार:पूर्व थाना प्रभारी राजन सिंह पर दुष्कर्म का आरोप, महिला थाने में बलात्कार का केस दर्ज; 5 दिन पहले ही सस्पेंड किया था

होशंगाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व थाना प्रभारी राजन सिंह गुर्जर। - Dainik Bhaskar
पूर्व थाना प्रभारी राजन सिंह गुर्जर।

मप्र के होशंगाबाद में वर्दी को दागदार करने वाले पुलिसकर्मियों पर बुधवार को एफआईआर हुई है। 12 घंटे में जिले में दो एफआईआर दर्ज हुई। एक अपराध में पूर्व थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर राजन सिंह गुर्जर पर दुष्कर्म का आरोप लगा। वहीं दूसरा मामले में एक सब इंस्पेक्टर, महिला प्रधान आरक्षक और 2 पुलिस कर्मियों के खिलाफ ब्लैकमेलिंग कर डरा धमकाकर रुपए ऐंठने का केस दर्ज हुआ। रामपुर थाने के पूर्व प्रभारी एसआई राजन सिंह गुर्जर के खिलाफ एक महिला ने दैहिक शोषण का आरोप लगाया है। महिला थाना होशंगाबाद में देर रात सब इंस्पेक्टर गुर्जर के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज हुआ।

पीड़िता इटारसी की निवासी है। पीड़िता ने कहा करीब 5 माह पहले एसआई राजन गुर्जर इटारसी थाने में पदस्थ थे। इटारसी थाने में उनसे जान पहचान हुई। तभी एसआई गुर्जर ने मेरा नंबर लिया और बाद में वाट्सऐप पर अश्लील मैसेज भेजने लगे। मेरे मना करने पर भी मैसेज भेजे। उन्होंने मुझे भरोसा दिलाया कि वो मेरे साथ जीवन गुजारना चाहते है। मैं बातों में आ गई। वे मुझे कार से कभी तवा रिसोर्ट ले गए, तो कभी परिचित के कमरे और तिलक सिंदूर केंद्र ले गए। उन्होंने मेरे साथ संबंध बनाए। अब पिछले कुछ दिन पहले एसआई गुर्जर रामपुर थाना प्रभारी बने, तभी से वो मेरा फोन नहीं रिसीव कर रहे, न साथ रखे और न पालन पोषण में आर्थिक मदद कर रहे। पीड़िता ने शिकायत की थी। महिला थाना प्रभारी सुरेखा निमोदा ने बताया पीड़िता की शिकायत पर सब इंस्पेक्टर राजन सिंह गुर्जर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

पीड़िता के पास सब इंस्पेक्टर से मुलाकात के सबूत

पीड़िता का दावा है, उनके पास सब इंस्पेक्टर गुर्जर द्वारा व्हाट्सएप पर की अश्लील चेटिंग, हम दोनों की तस्वीरें व मिलने के सबूत हैं। उनका कहना है कि थाना प्रभारी बनने के बाद उन्होंने मिलना बंद कर दिया। जिसके बाद उनसे शिकायत की।

थाना प्रभारी लाइन को 5 दिन पहले किया लाइन अटैच

शिकायत मिलने के बाद रामपुर थाने के पूर्व थाना प्रभारी राजन सिंह गुर्जर को एसपी संतोष सिंह गौर ने 5 दिन पहले ने लाइन अटैच कर चुके है। मामले में इटारसी एसडीओपी महेंद्र मालवीय को जांच सौंपी थी। जिसकी जांच की गई।

5 दिन पहले इटारसी थाने में दिया आवेदन

पीड़िता ने इटारसी थाने में 5 दिन पहले पूर्व रामपुर थाना प्रभारी राजन गुर्जर के खिलाफ लिखित शिकायत की थी। थाना प्रभारी गुर्जर पर केस दर्ज करने की मांग की थी। मामले में टीआई रामस्नेही चौहान ने कहना था कि महिला ने 3 दिन तक कार्रवाई का लिखा। जांच की जा रही है। कार्रवाई न होने से पीड़िता ने मंगलवार को महिला थाने पहुंच कर शिकायत की। देर रात राजन सिंह गुर्जर के खिलाफ केस दर्ज हुआ।

सब इंस्पेक्टर सहित चार पुलिसकर्मियों पर ब्लैकमेलिंग का केस

मंगलवार रात को कोतवाली थाने पूर्व सब इंस्पेक्टर जय नलवाया, महिला प्रधान आरक्षक ज्योति मांझी, आरक्षक ताराचंद जाटव, मनोज वर्मा के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। चारों पुलिसकर्मी एक महिला के साथ मिलकर झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर रुपए ऐंठने का काम करते थे। चारों पुलिसकर्मी पिछले महीने बर्खास्त हो चुके है। अब इनकी गिरफ्तारी होना बाकी है।

खबरें और भी हैं...