पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गुजरात के महिसागर में मिली किशोरी:फ्री फायर गेम से 7दिन पहले दोस्ती, झांसे में आकर 500 किमी दूर अकेली ही मिलने पहुंची नाबालिक किशोरी, आरोपी गिरफ्तार

होशंगाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

होशंगाबाद माेफाड़ा गांव से लापता 16 वर्षीय किशोरी को मंगलवार देर शाम पुलिस गुजरात से डोलरिया ले आई। किशोरी सोशल मीडिया के फ्री फायर गेम पर एक युवक से दोस्ती के झांसे में आकर उससे मिलने 500 किमी दूर गुजरात के महिसागर पहुंच गई थी। पुलिस ने किशोरी को सुरक्षित ले आई और उस युवक रितेश पिता रमेश पटेल (19) निवासी महिसागर को भी हिरासत में लिया।

पुलिस के मुताबिक नाबालिग को रितेश ने 7 दिन पहले ही फ्री-फायर गेम एप से उनकी दोस्ती हुई। फ्री फायर गेम के माध्यम युवक ने किशोरी को झांसे में लिया। बहला-फुसलाकर महिसागर बुलाया। नाबालिग 11-12जुलाई की रात को डोलरिया से 500 किमी दूर महिसागर (गुजरात) अकेली पहुंच गई। नाबालिग घर पर बिना कुछ बताए ट्रक से हरदा पहुंची। वहां से इंदौर होते हुए महिसागर पहुंची। डोलरिया थाना प्रभारी आम्रपाली ने बताया सोमवार को नाबालिग के अपहरण की शिकायत परिजनों ने दर्ज कराई थी। 3 टीम बनाकर तलाश की। उसकी लोकेशन गुजरात के महिसागर में मिल रही थी। महिसागर की लोकल पुलिस की मदद ली। महिसागर से नाबालिग को रितेश पटेल के घर से बरामद किया है। उसके बयान लिए जा रहे हैं।

घर से डोलरिया पैदल पहुंची, ट्रक से लिफ्ट लेकर हरदा गई, फिर बस से गुजरात

थाना प्रभारी डाहट ने बताया नाबालिग गांव से रात 12 बजे अपने घर मिसरोद होते हुए पैदल डोलरिया पहुंची। से ट्रक में हरदा गई। हरदा से बस पकड़कर इंदौर और इंदौर से महिसागर पहुंची। एसपी के अनुसार नाबालिग को बहला-फुसलाकर आरोपी ने वहां बुलाया था। नाबालिग के मामले में धारा 363 का ही मामला ही दर्ज होता है। इसमें नाबालिग की इच्छा मान्य नहीं होती है।

मुख्यमंत्री को ट्वीट, आपकी भांजी लापता, मदद करो, गुजरात मिल रही लोकेशन, शिवराज सिंह ने DM को दिए जांच के निर्देश

खबरें और भी हैं...