पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Gauriputra Ganesh Will Give The Message Of Victory In Olympics, Ganesh Idols With Hockey, Football And Spear Made By Wooing Differently abled Children

गणेशोत्सव 10 से:ओलिंपिक में जीत का संदेश देंगे गौरीपुत्र गणेश, लुभा रही दिव्यांग बच्चों की बनाई हाॅकी, फुटबाॅल और भाला वाली गणेश प्रतिमाएं

हाेशंगाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दिव्यांग बच्चों द्वारा बनाई गई इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमाएं। - Dainik Bhaskar
दिव्यांग बच्चों द्वारा बनाई गई इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमाएं।

ओलिंपिक खेलाें में भारत काे विभिन्न खेलाें में स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक खिलाड़ियाें ने दिलाए हैं। ओलिंपिक खेलाें में भारत के प्रदर्शन से प्रभावित भविष्य निशक्त विशेष विद्यालय के विद्यार्थियों ने अपने हाथाें से बनाई ईकाे फ्रेंडली गणेश प्रतिमाओं में खेलाें के रंग भरने का प्रयास किया है। दिव्यांग विद्यालय के बच्चों ने मिट्टी की गणेश प्रतिमाओं में भाला हाथ में लिए है गणेश, हाॅकी और फुटबाॅल खेलते हुए गणेश प्रतिमाओं का निर्माण किया है। 10 सितंबर से शुरू होने वाले गणेशोत्सव में ईको फ्रेंडली प्रतिमाएं स्थापित की जाएगी।

विद्यालय की संचालिका अफराेज खान ने बताया कि पिछले दाे दिनाें से दिव्यांग बच्चाें की बनाई प्रतिमाओं की प्रदशर्नी लगाई जा रही है। प्रदर्शनी देखने आने वाले बच्चाें काे खिलाड़ी गणेश की प्रतिमाएं बेहद पसंद आ रह हैं। प्रदर्शनी के पहले ही दिन 100 से अधिक प्रतिमाएं बच्चाें ने लेकर गए। उसके बाद अधिक डिमांड आने पर साेमवार काे दाेबारा से दिव्यांग बच्चाें ने प्रतिमाओं का निर्माण किया।

ईकाे फ्रेंडली हैं गणेश प्रतिमाएं: दिव्यांग बच्चाें की बनाईं प्रतिमाएं मिट्टी से निर्मित हैं। प्रतिमाओं में केमीकल युक्त रंगाे का उपयाेग भी नहीं किया जा रहा है। वाॅटर कलर से प्रतिमाओं में किया जा रहा है। दिव्यांग बच्चाें ने इससे पहले हाथ में काेराेना वैक्सीन लिए हुए गणेश प्रतिमाओं का निर्माण किया था। बच्चे हर साल नया संदेश देने वाली प्रतिमाएं बनाते हैं।

पंडाल की तैयारियाें में जुटी गणेश उत्सव समितियां

शहर की गणेश उत्सव समितियां पंडाल निर्माण की तैयारियाें में लग गईं हैं। हालांकि शासन की गाइडलाइन के तहत गणेश प्रतिमाओं का आकार तय हाेने के कारण पंडालाें में अत्यधिक साज-सज्जा नहीं की जा रही हैं। फिर भी शहर के कई स्थानाें पर समितियाें ने भव्य तरीके से पंडाल सजाने की तैयारियां की हैं। आरतियाें और आयाेजनाें में निर्धारित संख्या के कारण सीमित तैयारियाें के साथ पंडाल बन रहे हैं।

खबरें और भी हैं...