पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • In 23 Days, If The Oxygen Was Not Available From Pune, The Machine Could Not Be Found From Pune, Due To The Slackness Of Officers, The Work Was Stuck, The Structure Is Ready.

स्वास्थ्य मंत्री का ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने का दावा फेल:23 दिन में प्लांट से ऑक्सीजन मिलना तो दूर पुणे से नहीं पाई मशीन, अफसरों की सुस्ती के कारण अटका काम, सिर्फ स्ट्रक्चर तैयार

होशंगाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल के पीछे ऑक्सीजन प्लांट का स्ट्रक्चर बनकर तैयार। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल के पीछे ऑक्सीजन प्लांट का स्ट्रक्चर बनकर तैयार।

होशंगाबाद जिला अस्पताल में मिनी ऑक्सीजन प्लांट 15 दिनों में शुरू होने का स्वास्थ्य मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी का दावा खोखला साबित हुआ। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा कहीं ये बात को 23 दिन बीत चुके है। प्लांट शुरू होना तो दूर अभी तक प्लांट की पुणे से मशीन ही नहीं आ पाई है। पिछले 8 दिनों से स्ट्रक्चर बनकर तैयार है। लेकिन मशीन नहीं होने से काम बंद हो गया है। ऐसे में जिला अस्पताल में बनने वाले ऑक्सीजन प्लांट का काम फिलहाल अटक गया है।

कोरोना के मरीजों की संख्या जिला अस्पताल में बढऩे और ऑक्सीजन की कमी के चलते लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने पिछले महीने होशंगाबाद जिले के लिए 300 एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने के आदेश दिए।स्वीकृति मिलते ही तत्काल जिला अस्पताल के पीछे प्लांट के लिए तेजी से निर्माण शुरू हुआ। 27 अप्रैल को स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने भी होशंगाबाद में कोविड की समीक्षा के बाद प्लांट स्थल का मुआयना किया था। तब स्वास्थ्य मंत्री ने 15 दिनों में प्लांट से ऑक्सीजन मरीजों को मिलना शुरू होने की बात कहीं थी। स्वास्थ्य मंत्री के दौरे हो 23 दिन बीत चुके है। ऑक्सीजन मिलना तो दूर प्लांट की मशीनरी तक नहीं आ पाई है।

ऑक्सीजन संकट से मिलेगी मुक्ति:अस्पताल में बनेगा 300 ली. क्षमता का प्लांट, बीमारी के चलते ऑक्सीजन के मरीजों को मिलेगी राहत

जिम्मेदारों अफसरों की सुस्ती के कारण प्लांट का काम अटका पड़ा है। बताया जा रहा है कि प्लांट निर्माण कार्य पुणे की एजेंसी कर रही है। इसकी मशीनें पुणे से आनी है। ट्रांसपोर्ट से मशीन लेट होने के कारण जिला अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट का काम लेट हो गया है। सीएमएचओ डॉ. दिनेश कौशल ने बताया कि प्लांट में लगने वाली मशीनें पुणे से आने वाली हैं। एजेंसी भी वहीं की है। एक-दो दिन में मशीन आ जाएगी।