मुसीबत / सिवनीमालवा तरफ से टिड्डी दल की एंट्री, 12 गांवों में फसलों पर संकट

Locust team entry from Sivanimalava side, crisis in crops in 12 villages
X
Locust team entry from Sivanimalava side, crisis in crops in 12 villages

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:08 AM IST

होशंगाबाद. भास्कर संवाददाता| सिवनीमालवा/ हाेशंगाबाद
जिले के सिवनीमालवा क्षेत्र में नर्मदा किनारे के एक दर्जन गांवों तक टिड्डी दल आ गया। शनिवार को टिड्डी का एक दल सीहोर तहसील के नसरुल्लागंज से सिवनी मालवा क्षेत्र में पहुंचा। नसरुल्लागंज से ही दल दो हिस्सों में बंट गया था। एक दल सिवनीमालवा अाया ताे दूसरा सलकनपुर के जंगल में है। चिंता है कि यह दूसरा दल भी बुधनी के रास्ते हाेशंगाबाद जिले में ही अा सकता है जो झाेलियापुर के आसपास है। 
   सिवनीमालवा में गांवों में दल के अाते ही विभागीय टीम पहुंच गई। टिड्डी दल जैसे ही वहां बैठेगा इसे प्रशासन की टीम द्वारा स्प्रे कर मारने का प्रयास किया जाएगा। नसरुल्लागंज से चला टिड्डी का पहला दल सिवनीमालवा के गांव पापन, अर्चना गांव में शाम के समय पहुंचा। सिवनीमालवा क्षेत्र में अंदर के गांव जैसे चौकी, गुंरजघाट, बांसनिया में टिड्डी मिलने की सूचना मिल रही है। कई टिड्डी दल से अलग होकर फैल गई है। 

नुकसान हुआ ताे मिलेगी 27 से 30 हजार की राहत राशि

जिले में टिड्डी दल से नुकसान हाेने पर छाेटे किसानाें काे 30 हजार रुपए हेक्टेयर आरबीसी के तहत राहत राशि देने का प्रावधान है। किसानाें काे 27 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से राहत राशि दी जाएगी। नुकसान हाेने पर पहले विभाग का दल सर्वे करेगा। इसके आधार पर राहत राशि मिलेगी। 
हरदा में धुएं से संकट बढ़ा
रहटी से नर्मदा पार कर पापन, अर्चना गांव आया, गंजाल नदी पार कर नाहरकोला खुर्द, भीमगांव, चांपादेवडी, कोलगांव में भी पहुंचा है। पापन के साबिर अली, नाहर कोला के रामाधार, रिछी के विजयसिंह राजपूत, कोलगांव के आंचलसिंह, चना के पंडित ओमप्रकाश ने बताया भगाना कठिन है। इधर, हरदा में टिड्डी भगाने धुआं किया गया था, अब प्रशासन ने ऐसा नहीं करने के मना किया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना