पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भोपाल-नागपुर फोरलेन:अब बारिश बाद ही चालू होगा भोपाल जाने के लिए नया रास्ता

हाेशंगाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जून तक पूरा होना था, लेकिन कोरोना कर्फ्यू के कारण टला

भोपाल-नागपुर फोरलेन का काम चल रहा है, जिसके तहत बांद्राभान में नर्मदा पर नया ब्रिज बन रहा है। इससे शहर को भोपाल जाने के लिए नया रास्ता मिलेगा। ब्रिज का काम पूरा हो चुका है। एनएचएआई ने दावा किया था कि नया रास्ता जून से चालू हो जाएगा, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। बारिश के बाद ही भोपाल जाने का नया रास्ता चालू होगा। इसकी वजह काेरोना कर्फ्यू है। नए नर्मदा ब्रिज की एप्रोच रोड, रेलिंग लगाने का काम अधूरा है।

कोरोना कर्फ्यू के कारण मजदूर अपने गांव लौट गए हैं। बारिश आने वाली है, जिसके चलते काम बंद हो जाएगा। अब बारिश के बाद ही ब्रिज यातायात चालू करने लायक होगा। एनएचएआई अफसरों का कहना है कि अब अक्टूबर में ब्रिज से यातायात शुरू होगा। फाेरलेन बनने से शहर के लाेगाें काे भारी वाहन खासकर रेत से भरे डंपर, ट्रकाें के अावागमन हाेने से राहत मिलेगी। खदानाें से यह ट्रक सीधे फाेरलेन हाेते हुए भाेपाल जाएंगे।

बांद्राभान से इटारसी तक काम अधूरा : बांद्राभान से लेकर इटारसी तक फाेरलेन में काम अधूरा है। यहां अभी एप्राेच राेड नहीं बन पा रही है ताे रेलिंग लगने का काम अटक गया है। एनएचएआई के प्राेजेक्ट मैनेजर आरके गुप्ता ने बताया हमारी तैयारी जून में फाेरलेन से आवागमन शुरू करने की थी। इस बीच अप्रैल में मजदूर चले गए। मजदूराें के जाने से पूरा काम दाे माह से प्रभावित है। अभी कई जगह रेलिंग लगना है ताे एप्राेच राेड भी बनना है।

यहां एप्राेच राेड बनना बाकी : बांद्राभान धानाबढ़, रायपुर, बाबई राेड पर जिंद बाबा के पास एप्राेच राेड नहीं बनी है। वर्तमान राेड से फाेरलेन काे जाेड़ने वाली राेड का एप्राेच राेड कहा जाता है। अभी कहीं मिट्टी पड़ी है ताे कहीं मुरम डली है। अभी इसे पक्का किया जाना है। इसके अलावा कई जगहाें पर रेलिंग भी नहीं लगी है। जहां एप्रोच राेड जुड़ेगी वहां भी रेलिंग बनाई जाना है। इसके अलावा फिनिशिंग का काम भी पूरा नहीं हुआ है। इस कारण इसमें देरी हाेना तय है।

खबरें और भी हैं...