होशंगाबाद रेलवे स्टेशन पर एफओबी की मांग:डेढ़ साल पहले तोड़ दिया था फुटओवर ब्रिज, जान जोखिम में डाल पटरी पार करते है

होशंगाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे स्टेशन पर पटरी पार कर लोग आना-जाना करते है। - Dainik Bhaskar
रेलवे स्टेशन पर पटरी पार कर लोग आना-जाना करते है।

होशंगाबाद रेलवे स्टेशन पर डेढ़ साल बाद फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) का दोबारा निर्माण नहीं हो पाया है, जिससे स्कूल-कोचिंग वाले विद्यार्थी, बुजुर्ग, महिलाएं व पुरुषों को रोजाना जान जोखिम में डाल पटरी पार करना पड़ती है। रेलवे स्टेशन होशंगाबाद पर पुनः फुट ओवर ब्रिज के निर्माण के लिए पश्चिम-मध्य रेलवे भोपाल मंडल डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय से मांग की गई है।

एंटी करप्शन जिला अध्यक्ष मिहिर श्रीवास्तव ने डीआरएम को ज्ञापन सौंप एफओबी निर्माण कराने की मांग की। उन्होंने बताया की डेढ़ साल पहले लॉकडाउन में रेलवे स्टेशन के पुराने फुटओवर ब्रिज में तकनीकी खराबी का हवाला देकर उसे तोड़ा था और आश्वासन दिया था कि नया फुट ओवर ब्रिज शीघ्र बनाया जाएगा। लेकिन अभी तक निर्माण नहीं हो पाया है। कई लोग ग्वालटोली से नर्मदा स्नान, रामजी बाबा, समाधि दर्शन के लिए के अलावा स्कूल, कॉलेज ओर बाजार भी एफओबी से होकर पैदल ही आते-जाते थे। पुराना एफओबी टूटने से यह कार्य बंद हो गया है। अब जान जोखिम में डाल लोग रेलवे पटरी पार करते है। डीआरएम से जल्द एफओबी का निर्माण शुरू करने की मांग की। इस दौरान समाजसेवी कौशलेश चौरे, दीपक साहू, रजत यादव, वैभव वर्मा, मौजूद रहे।

रेलवे स्टेशन पर तोड़ने के बाद बंद पड़ा है।
रेलवे स्टेशन पर तोड़ने के बाद बंद पड़ा है।
खबरें और भी हैं...