• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Pranayama And Surya Namaskar Will Strengthen The Respiratory System And Lungs, Meditation Of और And The Sound Of Conch Will Erase Negativity.

ऐसे हारेगा कोरोना:प्राणायाम और सूर्य नमस्कार करने से श्वसन तंत्र और फेफड़े होंगे मजबूत, ॐ का ध्यान और शंख की ध्वनि मिटाएगी नकारात्मकता

होशंगाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयुर्वेद, और योग चिकित्सा से पाएं कोरोना से लड़ने की ताकत, आयुष विभाग चला रहा अभियान

आयुष विभाग आयुर्वेद, हाेमयाेपेथी और योग चिकित्सा से घर पर भी इलाज कर कोरोना महामारी के इस दौर में हम सुरक्षित रह सकते हैं। शास्त्रों में बताए सरल घरेलू उपचार को अपना कर कोरोना से बचा जा सकता है। आयुर्वेद विशेषज्ञों के अनुसार कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद भी घर इलाज करके ही ठीक भी हुए। प्राचीन समय में ऐसी बीमारियों के इलाज के लिए कई विधियां उपयोग में लाई जाती थी जैसे आयुर्वेद चिकित्सा, ध्वनि, संगीत, राग चिकित्सा व योग चिकित्सा आदि।

योग चिकित्सा

प्रतिदिन प्राणायाम और सूर्य नमस्कार करें। इससे श्वसन तंत्र और फेफड़े मजबूत होंगे। सांस को 25-30 सेकंड तक फेफड़ों के अंदर भरें, फिर छोड़ने के बाद इतने ही समय तक दोबारा ऑक्सीजन लेकर रोकें। इस प्रक्रिया से आपको सांस लेने की क्षमता का आकलन रहेगा।

आयुर्वेद चिकित्सा

सर्दी, खांसी होने पर अदरक के कटे टुकड़े, 1/2 चम्मच जीरा, 1/2 चम्मच हल्दी और एक चम्मच नींबू रस को एक कप पानी में मिलाकर इसका सेवन करना है। सर्दी, खांसी से पीड़ित लोगों को फायदा होता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। रोजाना तुलसी, लौंग, अदरक और हल्दी का गर्म दूध पिएं। संतरे, मौसमी और आंवला खाएं। नींबू का इस्तेमाल भी जरूर करें। नमक के गुनगुने पानी से गरारे करे। कपूर, लौंग, इलाइची और जावित्री को पीसकर अपने साथ रखें और समय-समय पर उसे सूंघते रहें।
ध्वनि चिकित्सा

एक खास तरह की ध्वनि से चिकित्सा भी की जाती है। ध्वनि के विशेष कंपन से मन और मस्तिष्क प्रभावित होता है जो शरीर की कोशिकाओं को एक्टिवेट करता है और रोगों से बचाता है। ॐ के उच्चारण का लाभ तो वैज्ञानिक भी स्वीकार करते हैं। शंख की ध्वनि के बारे में कहा जाता है कि इसके नाद से जो कंपन उत्पन्न होता है वह धरती के अंदर सोए सूक्ष्म जीवों को भी प्रभावित करता है और जहां तक ॐ और शंख की ध्वनि गूंजती है वहां तक नकारात्मक ऊर्जा में कमी आती है।

  • आयुष विभाग अभियान चलाकर आयुर्वेद और याेग से लाेगाे काे काेराेना से लड़ने के लिए सशक्त बनाने का काम किया जा रहा है। गांव गांव में काढ़ा और किट का वितरण के साथ याेग के बारे में बताया जा रहा है। - डाॅ. ललिता उइके, आयुष चिकित्सा अधिकारी
खबरें और भी हैं...