पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Remedesiveer In Hoshangabad Itarsi, No Beds In Bhopal, No Remedesives In Government Protocols, But Due To This, The Demand In The Market Is Effective

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दवाई नहीं क्योंकि सप्लाई नहीं:होशंगाबाद-इटारसी में रेमडेसिवीर, भोपाल में बेड नहीं, सरकारी प्रोटोकॉल में रेमडेसीविर नहीं लेकिन प्रभावी होने से बाजार में इसी की डिमांड

इटारसी/ होशंगाबाद6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना मरीज बढ़ते जा रहे हैं और किसी भी मेडिकल स्टोर पर रेमडेसिवीर इंजेक्शन नहीं मिल रहा। यह इंजेक्शन लंग्स इंफेक्शन (निमोनिया) के लिए कारगर है। सरकारी प्रोटोकॉल में नहीं होने से जिला अाैर इटारसी सिविल अस्पताल में रेमडेसिवीर नहीं है। लेकिन लंग्स इंफेक्शन के कारण ऑक्सीजन स्तर 90 से नीचे जाने पर यह दवा प्रभावी है। यही कारण है कि जिला अस्पताल से भी डॉक्टर यह इंजेक्शन पर्चे पर लिख कर दे रहे हैं। हालांकि बाजार में इसकी सप्लाई ना के बराबर है। इटारसी अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ. राकेश चौधरी के सिविल अस्पताल में एमडी मेडिसिन ही नहीं है। इसलिए रेमडेसिवीर इंजेक्शन का डिमांड नोट भेजा नहीं जा सकता।

आपबीती: डॉक्टर की सिफारिश पर भोपाल में मिला बेड

इटारसी न्यास कॉलोनी में रहता हूं। दो-तीन दिन बुखार आया। फिर ऑक्सीजन लेवल कम हो गया। मैं खुद कार ड्राइव कर भोपाल गया। एक बड़े हॉस्पिटल में कोरोना टेस्ट करवाया। रिपोर्ट पॉजिटिव आई। लेकिन वहां बेड भरे होने से भर्ती नहीं किया। दूसरे हॉस्पिटल में सीटी स्कैन करवाया। रिपोर्ट से पता चला इंफेक्शन लंग्स में आ गया है। सीटी स्तर 14 था। भर्ती होने के लिए तीन-चार बड़े हॉस्पिटलों के चक्कर काटे पर कहीं जगह नहीं मिली। मैं वापस इटारसी आ गया। दो दिन के बाद होशंगाबाद जिला अस्पताल में भर्ती का पर्चा बन गया। डॉक्टर ने रेमडेसिविर इंजेक्शन लिखा जो कहीं नहीं मिला। अंततः हताश होकर इटारसी वापस आकर रात में कार से भोपाल जाना पड़ा। वहां एक निजी हॉस्पिटल में बेड मिला वो भी एक रिश्तेदार डॉक्टर की सिफारिश से। मरीज इतने आ रहे हैं कि इस समय भोपाल के किसी भी हॉस्पिटल में खाली बेड मिलने की वेटिंग चल रही है।
- जैसा 49 वर्षीय नीतीश (परिवर्तित नाम) ने बताया

मरीज को लगते हैं 6 इंजेक्शन
कोरोना ग्रस्त गंभीर मरीज के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन के 6 डोज जरूरी हैं। पहले दिन दो और शेष 4 दिन एक-एक इंजेक्शन लगाया जाता है। इंजेक्शन खरीदने के लिए व्यक्ति को अपना और मरीज का आधार कार्ड, कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट, डॉक्टर का पर्चा (प्रिसक्रिप्शन) रखना जरूरी है।

भास्कर; रियलिटी चेक

  • जिला अस्पताल रोड पर एक मेडिकल स्टोर पर युवक ने कहा, अभी इंजेक्शन नहीं मिलेगा। कीमत 4800 रुपए है।
  • होशंगाबाद एकता चाैक के पास एक मेडिकल स्टोर संचालक ने कहा, मोनोसेफ दे सकता हूं। एमपीएस कहीं से बुलवा दूंगा। रेमडेसिवीर इंजेक्शन नहीं मिलेगा।
  • होशंगाबाद डबल फाटक के पास निजी हॉस्पिटल के स्टोर में बताया यह इंजेक्शन उपलब्ध नहीं है। मरीजाें को वैकल्पिक तौर पर डॉक्टर के पर्चे पर रेमडेसिवीर की टेबलेट कुछ मरीजों को दी जा सकती है।
  • इटारसी जयस्तंभ चौक पर दवा के कारोबारी ने बताया, इंजेक्शन भोपाल में कोविड हॉस्पिटल के मेडिकल स्टोर पर मिल सकता है।

अस्पतालों में मरीजों के लिए उपलब्ध नहीं
रसूलिया डबल फाटक स्थित निजी अस्पताल के फार्मासिस्ट अक्षय राजपूत ने बताया काेविड-19 के मरीजाें काे दी जाने वाली दवा की कमी दाे सप्ताह से है। प्रमुख रूप से रेमडेसिविर इंजेक्शन, फ्लू गार्ड और फेविंडाे 400 टेबलेट की कमी है। शहर में जहां भी निजि अस्पतालाें में काेविड-19 के मरीजाें का उपचार हाे रहा है वहां उक्त दवाओं की कमी सामने आ रही है।

पर्याप्त दवा भेज रहे
पूरे जिले में पर्याप्त दवाएं पहुंचाई जा रही हैं। सभी बीएमओ काे पत्र लिखकर उन्हें कहा है कि जाे भी दवाएं इलाज के लिए चाहिए उपलब्ध कराई जाएंगी।
डॉ. दिनेश काैशल, सीएमएचओ

सिर्फ कोविड हॉस्पिटल में रेमडेसिवीर की सप्लाई
इटारसी केमिस्ट एसोसिएशन अध्यक्ष प्रीतम सिंह गंभीर कहते हैं रेमडेसिवीर इंजेक्शन बाजार में उपलब्ध नहीं है। डिमांड ज्यादा है। सिर्फ कोविड हॉस्पिटल में सप्लाई हो रहा है। यह इंजेक्शन चार कंपनियों का आता है। जिला व सिविल अस्पताल को इंजेक्शन का डिमांड लेटर डालना चाहिए। एसोसिएशन स्तर पर बात की है। एक-दो दिन में रिजल्ट मिल सकता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें