पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Samples Give Increased But Sampling Is The Same, Oxygen Level Is Less Than 90, Conditions Like Bringing Doctor's Form

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मरीज कम दिखाने के जतन:सैंपल देने वाले बढ़े पर सैंपलिंग उतनी ही, ऑक्सीजन लेवल 90 से कम, डॉक्टर का पर्चा लाने जैसी शर्तें

होशंगाबाद15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महामारी की भयावहता को धरातल के बजाय कागजी आंकड़ों में नियंत्रित करने की काेशिश
  • फीवर क्लीनिक से कई लोग बिना जांच के लौट रहे, थाने भी पहुंचने लगे सैंपल नहीं लेने के विवाद

कोरोना महामारी की भयावहता कम दिखाने के सरकारी जतन जारी हैं। पहले डेथ ऑडिट के नाम पर मौतें छिपाई जा रही थीं, अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या कम दिखाने का खेल शुरू हो गया है। संक्रमण दर जो अप्रैल की शुरुआत में 7 प्रतिशत थी, वह अंत तक बढ़ कर 30 प्रतिशत जा पहुंची है लेकिन सैंपल पहले जितने ही लिए जा रहे हैं।

सैंपलिंग कम से कम हो, इसके लिए ऑक्सीजन सैचुरेशन 90 से कम होने या डॉक्टर का पर्चा दिखाने पर ही सैंपल लेने की शर्तें लागू कर दी गई हैं। इस कारणफीवर क्लीनिक पर सैंपल देने पहुंच रहे कई लोगों को बिना जांच कराए लौटना पड़ रहा है। दिन के सैंपल पूरे हो जाने, किट खत्म होने जैसी बाते कह कर लोगों को लौटाया जा रहा है। अब तो सैंपल नहीं लेने के मामले थाने तक भी पहुंचने लगे हैं।

100 सैंपल के बाद जांच बंद
फीवर क्लीनिक पर सुबह 9 बजे से जांच शुरू हाेती है, लेकिन दाेपहर 12.30 बजे 100 सैंपल पूरे हाेने पर बंद हो जाती है। जांच नहीं हाेने से लोगों में नाराजगी है। शनिवार काे हाेशंगाबाद कसेरा माेहल्ला निवासी सुमित पटेल की जिला अस्पताल में जांच नहीं हुई तो वे 30 अप्रैल काे इटारसी अस्पताल में गए। दूसरे दिन बुलाया पर जांच नहीं की। स्टाफ से उनकी बहस तक हो गई। दाे पुलिसकर्मियों ने धमकाया। सुमित ने इटारसी थाने में शिकायत की। इटारसी के सौरभ चतुर्वेदी की भी इटारसी अस्पताल में जांच नहीं की गई थी।

सैंपलिंग नहीं बढ़ाने के तर्क
फीवर क्लीनिक में ऐसे लाेगाें की भीड़ बढ़ रही है जाे संक्रमित या संपर्क में आने की आशंका से जांच करवा रहे हैं।
प्रदेशभर के सैंपलाें बढ़ने और लैब क्षमता से ज्यादा सैंपल पहुंचने के कारण सैंपलिंग कम कर दी।

असल वजह
जितने ज्यादा सैंपल होंगे, उतने पॉजिटिव आएंगे, आंकड़ा बढ़ेगा, भयावहता दिखेगी। {सैंपल नहीं लेने पर भी लाेग ट्रीटमेंट लेकर घरों में ठीक हो रहे हैं। ये लोग सरकारी आंकड़े में जुड़ेंगे नहीं तो भयावहता कम नजर आएगी।

50 आरटीपीसीआर, 50 रैपिड किट दे रहे
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिले में 10 फीवर क्लीनिक संचालित हाे रही है। इनमें एक दिन में 600 सैंपल लेने का लक्ष्य है। इमसें से 50 आरटीपीसीआर और 50 रेपिड किट से जांच की जाती है। बुलेटिन व अधिकारियाें के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग पूरा कर रहा है। इसके बाद भी आम लाेग फीवर क्लीनिक पहुंच रहे हैं।

सीमित सैंपलिंग के लिए ये नया आदेश
फीवर क्लीनिक पर भीड़ न लगे इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने 90 से कम ऑक्सीजन लेवल वालों और डॉक्टर के जांच लिखने पर ही सैंपलिंग करने का नया आदेश निकाला है। ऐसे में कोरोना के लक्षण वाले कई लोगों को बिना जांच के ही लौटना पड़ रहा है। जबकि हर दिन में 100 से ज्यादा लोग संक्रमित निकल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें