विद्यार्थी परिषद का 54वां प्रांतीय अधिवेशन:स्कूल शिक्षामंत्री बोले- अभाविप की लड़ाई भ्रष्टाचार, देश विरोधियों से, मैकाले शिक्षा ने बनाया गुलाम

होशंगाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाेशंगाबाद| अभाविप के प्रांत अधिवेशन में उपस्थित अतिथि। - Dainik Bhaskar
हाेशंगाबाद| अभाविप के प्रांत अधिवेशन में उपस्थित अतिथि।
  • नर्मदा कॉलेज परिसर में हुआ विद्यार्थी परिषद का 54वां प्रांतीय अधिवेशन
  • 18 जिलाें के 250 पदाधिकारी हुए शामिल

नर्मदा कॉलेज परिसर में शुक्रवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) का 54वां प्रांतीय अधिवेशन हुआ। कारगिल शहीद विजयशंकर दुबे के नाम पर बने अधिवेशन सभागार में 18 जिलाें के करीब 250 प्रांत पदाधिकारी मौजूद रहे। सुबह ध्वजारोहण के साथ कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। इसमें प्रांत मंत्री शालिनी वर्मा, प्रांत अध्यक्ष मनोज आर्य उपस्थित रहे। उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि स्कूल शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार उपस्थित रहे।

उन्होंने नई शिक्षा नीति के फायदे बताए और कहा- हमारा देश स्वतंत्र है, परंतु मैकाले शिक्षा के कारण हम गुलाम बन गए। मुख्य वक्ता राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री प्रफुल्लकांत मौजूद रहे। उन्होंने कहा अभाविप शिक्षा के साथ राष्ट्रीय निर्माण में भी अहम भूमिका निभाएगा। पर्यावरण के लिए काम चलेगा। विद्यार्थी परिषद ने गठन के बाद से विवेकानंद के विचारों को अपनाते हुए विद्यार्थियों के अंदर एकता व चरित्र निर्माण का कार्य किया।

विद्यार्थी परिषद की लड़ाई भ्रष्टाचार, देश विरोधियों के खिलाफ रही है। अधिवेशन में सांसद राव उदयप्रताप सिंह, कृषि मंत्री कमल पटेल, पाठयपुस्तक निगम शैलेंद्र बरूआ, खादी ग्रामोद्योग अध्यक्ष जितेंद्र लिटोरिया, संघ के सहप्रांत प्रचारक विपुल गुप्ता, राष्ट्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह तोमर, मध्यभारत प्रांत संगठन मंत्री प्रवीण शर्मा, क्षेत्रीय संगठन मंत्री चेतस सुखाड़िया, प्रांत मंत्री शालिनी वर्मा, प्रांत अध्यक्ष मनोज आर्य, स्वागत समिति अध्यक्ष आशुतोष शर्मा, स्वागत समिति सचिव भरतसिंह राजपूत, विभाग संगठन मंत्री रेवसिंह भाभर, विभाग संयोजक विनायक दुबे, जिला संगठन मंत्री केतन चतुर्वेदी, जिला संयोजक कृतिक शिवहरे सहित छात्र प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

कार्यसमिति घाेषित: शािलनी वर्मा प्रांत मंत्री, प्रवीण शर्मा बने प्रांत संगठन मंत्री

हाेशंगाबाद। 54वे प्रांतीय अधिवेशन में प्रांत अध्यक्ष डाॅ. मनाेज आर्य ने प्रांत कार्यसमिति घाेषित की। इसमें प्रांत मंत्री शालिनी शर्मा और प्रांत संगठन मंत्री प्रवीण शर्मा काे फिर से बनाया गया। प्रांत उपाध्यक्ष रामबाबू दांगी (विदिशा), धमेंद्र राजपूत (शिवपुरी), शिवकुमार पचाैरी (मुरैना) सहमंत्री अमन राय (विदिशा), ऋषि साेनी (सीहाेर), चंचल घाेटे (भाेपाल), नीलेश गिरी गाेस्वामी (बैतूल), प्रांत काेषाध्यक्ष डाॅ. संजय गुप्ता, प्रांत कार्यालय मंत्री शिवेंद्र पांडे, प्रांत छात्रा प्रमुख अनुप्रिया तंवर, सह छात्रा प्रमुख प्राची शर्मा, डाॅ. दीपक पालीवाल विशेष आमंत्रित, प्रांत एसएफडी प्रमुख डाॅ. राेहित राजवैध, प्रांत एसएफडी संयाेजक वृतिका शर्मा, सहसंयाेजक छाेटे साहब पटेल, एसएफएस प्रमुख मुकेश मिश्रा, एसएफएस संयाेजक अभिषेक पाठक, कलामंच प्रमुख गाैरी प्रिया, कलामंच संयाेजक अदिति राठाैर, कृषि आयाम संयाेजक रूपसिंह दांगी, मेडिविजन संयाेजक जीत कलमी, सह संयाेजक अुर्जन कराेलिया, शाेधकार्य संयाेजक अभिषेक त्रिपाठी, साेशल मीडिया देशराज नाराेलिया, सह संयाेजक आदित्य शर्मा, शाेध छात्र प्रमुख अभिषेक शर्मा काे बनाया गया। वहीं कुश खंडेलवाल(नर्मदापुरम), मृदुलनाथ चाैहान, याेगेश गाैर, आरती बस्तवार, बैतूल से रूपेश पंवार, पीयूष बाघमारे, साैरभ अाजाद, माेनिका मालवीय, हरदा से सुमंत बिस्ट, मयंक काले, उत्तम राजपूत, शानू कुचबंदिया काे प्रांत कार्यसमिति सदस्य बनाया गया।

खबरें और भी हैं...