• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Scooty Used To Get Financed By Taking 2 Thousand, Got Caught, Suspected That He Could Not Reach For Aadhaar Verification

लोन के नाम पर धौखाधड़ी:2 हजार लेकर फाइनेंस करा कर देता था स्कूटी, पकड़ाया, आधार वेरीफाई कराने नहीं पहुंचा ताे हुआ शक

हाेशंगाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बैंककर्मी आरोपी को पकड़कर ले गए थाने

निजी बैंकाें से स्कूटी, एक्टिवा जैसी स्कूटर श्रेणी की गाड़ियाें काे फाइनेंस करवाकर बेचने वाला एक आराेपी सोमवार को बैंककर्मियाें के हत्थे चढ़ा गया। जिसे साेमवार काे बैंककर्मियाें ब्रांच इंचार्ज के साथ काेतवाली थाने लेकर पहुंचे। सतरस्ते स्थित इंडसंड बैंक के ब्रांच इंजार्च आकाश पवार ने बताया जुलाई में पीलीखंती क्षेत्र में रहने वाले एक युवक ने एक्टिवा फाइनेंस करवाई थी। उसने अपना राेजगार हलवाई हाेना बताया। इसका एग्रीमेंट कर उसका आधार कार्ड वेरीफाई किया गया लेकिन उस दिन नेटवर्क नहीं हाेने के कारण वेरीफिकेशन दूसरे दिन करवाने आने काे कहा। युवक फिर नहीं आया। हमें शंका हुई कि युवक आधार वेरीफिकेशन करवाने क्यों नहीं आ रहा। हमने एग्रीमेंट के आधार पर एक्टिवा की 24 अगस्त 2021 काे डिलेवरी दिलवा दी। उसने यह गाड़ी दूसरे दिन ही किसी काे दे दी। तभी से यह हमसे बच रहा था।

लगातार बैंक के फाइनेंस एक्जीक्यूटिव उसके घर पहुंच रहे थे। लेकिन उसके घरवाले बहाना बना रहे थे कि वह बाहर गया है। साेमवार काे युवक पकड़ा गया। उसने कबूल किया कि एक्टिवा काे उसने किसी दूसरे के कहने पर अपने पहचान पत्र पर फाइनेंस करवाई थी, जिसके लिए उसे सिर्फ 2000 रुपए मिले। इस मामले में काेतवाली में एक आवेदन भी दिया था। लेकिन बाद में समझाैता हाे गया।

बैंक के अधिकारियाें ने आवेदन दिया था, लेकिन बाद में दाेनाें पक्षाें में राजीनामा हाे गया युवक ने गाड़ी वापस दे दी। इसलिए काेई केस दर्ज नहीं किया गया।-संताेष सिंह चाैहान, टीआई

खबरें और भी हैं...