होशंगाबाद में रेप का केस:FIR कराने SP ऑफिस और महिला थाने के 2 दिन लगाए चक्कर, IG के हस्तक्षेप के बाद रिपोर्ट

होशंगाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

होशंगाबाद में 35 वर्षीय महिला का 6 साल तक शारीरिक शोषण व एबॉर्शन हुआ। पीड़िता को अपने साथ हुए शारीरिक शोषण व एबॉर्शन की FIR दर्ज कराने में 2 दिन लग गए। पीड़िता SP ऑफिस और महिला थाना होशंगाबाद के चक्कर काटती रही। आखिर में उसने होशंगाबाद आईजी दीपिका सुरी के पास पहुंचकर अपनी पीड़ा बताई। IG सूरी के हस्तक्षेप के बाद देर शाम महिला थाने ने आरोपी शुभम सोनी निवासी ग्राम बिछुआ तहसील देवरी जिला सागर के खिलाफ FIR की। जिसमें दैहिक शोषण, जान से मारने की धमकी व SC/ST एक्ट की धाराओं में केस दर्ज किया। एबॉर्शन करने के आरोप को पुलिस ने जांच में लिया गया।

जानकारी के मुताबिक पीड़िता की उम्र 35 वर्ष है। जो ग्वालटोली होशंगाबाद की रहने वाली है। आरोपी युवक शुभम सोनी पिता कन्हैयालाल सोनी सागर जिले के देवरी तहसील के ग्राम बिछुआ का रहने वाला है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वो और शुभम दोनों एक साथ बुदनी स्थित प्रायवेट कंपनी में काम करते थे। 6 साल पहले शादी का झांसा देकर मुझे बाबई रोड कालीमंदिर होशंगाबाद में माला पहनाकर शादी की। फिर हम दोनों एक साथ रहने लगे। पीड़िता का आरोप है कि शुभम ने कई बार उसका शोषण किया। वह दो बार प्रेग्नेंट हुई। दोनों ही बार उसने और उसके परिजनों ने धोखे से एबॉर्शन कराया। जून 2021 में युवक व युवक की मां-बहन ने यह कहकर एबॉर्शन उदयपुरा जिला रायसेन में कराया कि शादी अच्छे से करेंगे। एबॉर्शन के 3-4 माह बाद आरोपी व उसके परिजनों ने शादी करने से इंकार कर दिया। परेशान होकर पीड़िता ने 10 दिसंबर को एसपी ऑफिस और महिला थाना होशंगाबाद शिकायत करने पहुंची। महिला थाने ने शिकायती आवेदन ले लिया। शनिवार-रविवार अवकाश होने से सोमवार को महिला दोबारा एसपी ऑफिस और महिला थाना पहुंची। लेकिन महिला थाने से उसे उदयपुरा रायसेन थाने जाने का कहकर मामला टाल दिया। शाम को पीड़िता आईजी दीपिका सुरी के पास पहुंची और उन्हें अपनी पीड़ा सुनाई। देर शाम को FIR दर्ज की गई।

पहले से शादीशुदा है पीड़िता, आरोपी पर केस दर्ज

महिला थाना प्रभारी सुरेखा निमोदा ने बताया पीड़िता पहले से शादीशुदा है। उसकी 8 साल की एक बेटी है। पीड़िता होशंगाबाद के अलावा पिपरिया, उदयपुरा, शुजालपुर में जॉब कर चुकी है। आरोपी के साथ 6 साल तक लिव इन में रही। शारीरिक शोषण की धाराओं में केस दर्ज किया है। उसने जो एबॉर्शन की बात कही। उसके संबंध में दस्तावेज जुटाए जाएंगे। जांच में आरोप सही पाए जाने पर धारा बढ़ाई जाएगी। FIR में देरी नहीं हुई।