पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • The Narmada Bridge (Kharraghat Bridge) Built In 1968 Is Dilapidated. One And A Half Years Ago, The Biggest Repair Of The Bridge Was Done With Rs 1.55 Crore, Yet The Condition Is Such That The Heart Trembles When It Comes Out Of The Bridge.

1.55 करोड़ गए गड्‌ढों में:1968 में बना नर्मदा ब्रिज (खर्राघाट पुल) जर्जर है। डेढ़ साल पहले ही 1.55 करोड़ रुपए से ब्रिज की सबसे बड़ी मरम्मत हुई, फिर भी हालत ऐसी है कि ब्रिज से निकलने पर दिल कांप उठता है

होशंगाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

संभागीय मुख्यालय होशंगाबाद की सड़कें, पुल-पुलिया पर लापरवाही के गड्‌ढे हैं। इन खस्ताहाल सड़कों से नेताओं, आला अधिकारियों का वास्ता पड़ता है फिर भी किसी ने सुध नहीं ली। हर साल मरम्मत पर लाखों-करोड़ाें रुपए खर्च करने के बाद भी बदहाल सड़कों की सूरत नहीं बदलती।

होशंगाबाद-बुदनी के बीच बने नर्मदा ब्रिज (खर्राघाट पुल) की
अप्रैल 2019 में 1.55 कराेड़ रुपए से मरम्मत हुई थी। इसमें 40 लाख से मास्टिक अस्फाल्ट भी बिछाया। पांच सालों में ब्रिज की सबसे यह सबसे बड़ी मरम्मत थी। इसके बाद भी 18 महीने में ही ब्रिज पर गड्‌ढे हो गए हैं। जानलेवा गड्‌ढाें की तस्वीरें इसलिए दिखानी जरूरी है ताकि हुक्मरानों की आंखों में हकीकत दिखे।

हमारी पुलिया नहीं: पवारखेड़ा की पुलिया हमारी नहीं एनएच की है। हमारी सिर्फ सड़क है। इसकी पिछले 5 साल से मरम्मत नहीं हुई है। इस बार बारिश से पुलिया के ऊपर की सड़क खराब हाे गई। इसे नर्मदा ब्रिज के साथ ठीक कर देंगे। -दिनेश लाैवंशी, सहायक महाप्रबंधक, एमपीआरडीसी

नोटिस दिया है: नर्मदा ब्रिज पर गड्‌ढे हैं। कंपनी काे नाेटिस दिया है। बारिश के बाद ब्रिज के गड्ढे भरे थे। अभी डामरीकरण नहीं हाे सकता था। बारिश बंद हाेने तक का समय कंपनी काे दिया है। जल्द मरम्मत हाेगी। - प्रवीण नीमजे, प्रबंधक एमपीआरडीसी

​​​​​​​

पवारखेड़ा पुलिया : 5 साल से मरम्मत नहीं
होशंगाबाद को इटारसी से जोड़ने वाली नेशनल हाईवे-69 की पवारखेड़ा पुलिया बेहद खतरनाक है। करीब 5 करोड़ की लागत से बनी पुलिया की चार सालों में ही परतें उधड़ आई हैं। बड़े गड्‌ढे व रॉड दिखने लगी है। इस कारण कई हादसे हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...