पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लाजवाब कला:हाथों का हुनर 80 साल की उम्र में भी बना रहे मूर्तियां

हाेशंगाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ग्वालटाेली निवासी मूर्तिकार पीसी पालीवाल के हाथों से बनाई दुर्गा प्रतिमा इंग्लैंड ले गया था व्यापारी

कहा जाता है कला की काेई उम्र नहीं हाेती है। ग्वालटाेली निवासी 80 वर्षीय पीसी पालीवाल भी एक ऐसे कलाकार हैं जिनके हाथाें में हुनर है। आज भी वे साल के छह महीने अपनी कला काे देते हैं। हालांकि उम्र बढ़ने के साथ पालीवाल अब केवल गणेशाेत्सव और दुर्गाेत्सव के लिए प्रतिमाओं का निर्माण करते हैं। इस बार दुर्गा उत्सव में भी कई समितियां उनसे प्रतिमाएं बनवा रही हैं।

पालीवाल की बनाई प्रतिमाओं की ख्याति देश में नहीं बल्कि विदेशाें तक है। उनकी बनाई प्रतिमा इंगलैंड भी जा चुकी है। पालीवाल किशाेरावस्था में ही प्रतिमाओँ का निर्माण करने लगे थे। खास बात है कि उन्हें किसी ने मूर्तियां बनाना नहीं सिखाया है, यह हुनर उनकाे जन्म से ही मिला है।

कई बार हुए सम्मानित
पालीवाल काे मूर्ति निर्माण के लिए कई बार जिलास्तर, प्रदेश स्तर और राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया जा चुका है। उन्हाेंने कृषि कार्य छाेड़कर मूर्तिकला काे ही व्यवसाय के ताैर पर अपनाया है।

इस तरह इंग्लैंड भेजी गई थी मूर्ति

पालीवाल ने बताया उनकी बनाई मूर्तियां वास्तविक दिखाई देती हैं। करीब 30 साल पहले (1990 में) उनकी बनाई मां दुर्गा की प्रतिमा इंग्लैंड ले जाई गई। वे मूर्ति बना रहे थे। इस दाैरान इंग्लैंड निवासी इलेक्ट्राॅनिक व्यवसायी एलेक्स मिलर एसपीएम में व्यवसाय के सिलसिले में आए थे। उन्हाेंने सड़क से गुजरते हुए प्रतिमा काे देखा। प्रतिमा इतनी पसंद आई कि वे प्रतिमा ले जाने की जिद पर अड़ गए जबकि वह प्रतिमा पंडाल में रखने के लिए बन रही थी। पालीवाल ने प्रतिमा कवर्ड कराया और मिलर साथ में इंग्लैंड लेकर गए। उनकी बनाई शेर की प्रतिमा वन विहार में भी संरक्षित रखी गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें