हरियाली अमावस्या आज:उम्मीद के पौधे बने पेड़, इनकी छांव में हो रहे भागवत और भंडारे

होशंगाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नर्मदा किनारे गोंदरी घाट पर बने एक आश्रम में उम्मीद के पौधे अब पेड़ बनकर शीतल छांव दे रहे हैं। इन पेड़ों की हरियाली इतनी है कि श्रद्धालु इनके नीचे भंडारे और भागवत कथा का श्रवण करते हैं। अधिवक्ता अनुपम दुबे ने बताया उनके पिताजी ने नर्मदा के किनारे पर आश्रम का निर्माण करवाया था।

नर्मदा किनारे हरियाली रहे इसलिए सागवान के पौधे लगाए थे। अब यह पौधे बड़े हो गए हैं। इनकी प्राकृतिक छाया में लोग बैठकर भागवत कथा और भंडारे का आयोजन करते हैं। नर्मदा किनारे कटाव भी रुका है। हरियाली के कारण लोग यहां पिकनिक मनाने भी आते हैं।

खबरें और भी हैं...