कोरोना वैक्सीन सेंटर:वैक्सीनेशन सेंटर का बदला स्थान, अब बनाया जा रहा 16 बेड का कोरोना वार्ड

होशंगाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल में बनाया जा रहा कोरोना वार्ड

सरकारी अस्पताल में कोरोना वैक्सीन सेंटर का स्थान बदलकर अस्पताल के बांई तरफ बने स्टाफ क्वार्टर में कर दिया गया है। जहां वैक्सीन लगाई जा रही थी उस जगह को 16 बेड वाले कोरोना वार्ड में बदला जा रहा है। कोरोना संदिग्ध और वैक्सीन लगाने आए स्वस्थ्य लोगों के बीच सुरक्षित दूरी रखने के लिए ऐसा किया गया है। मालूम हो की कोरोना वायरस संक्रमण की जांच करने वाली लैब और वैक्सीन सेंटर दोनों आजू-बाजू में बने थे।

कोरोना के संदिग्ध मरीज और वैक्सीन लगवाने आए महिला पुरुष एक ही रास्ते से इन दोनों जगह पर जाते थे। आने वाले कोरोना संदिग्ध में कोरोना पॉजिटिव भी हो सकते हैं और वो लोग अगर वैक्सीनेशन कराने आए स्वस्थ लोगों के संपर्क में आए तो उन लोगों को भी कोरोना वायरस संक्रमण हो सकता है। इस बात को ध्यान में रखकर एसडीएम नितिन टाले ने वैक्सीन सेंटर जाने के लिए एक अलग रास्ता बनवा दिया था और लैब के रास्ते से वैक्सीन सेंटर जाने वाले रास्ते को बंद करा दिया था। इसके बाद भी कोरोना जांच और वैक्सीन लगवाने आए लोगों में दूरी नहीं रह पा रही थी।

इसी बीच शहर की कोरोना संबंधी परिस्थितियों में कोरोना वार्ड बनाया जाना आवश्यक हो गया है। बीपीएम दीपक सुरजिया ने बताया कि वर्तमान में जहां वैक्सीन लगाया जा रहा था उसे पहले कोविड सेंटर बनाया गया था, कोविड सेंटर बंद हो जाने के बाद उसी इमारत को वैक्सीनेशन केंद्र बना दिया गया था। अब उसे पुनः कोरोना वार्ड में बदला जा रहा है। नपा सीएमओ विनोद कुमार प्रजापति ने बताया कि कोरोना वार्ड में नया शाैचालय तैयार करवा दिया है। एक या दो दिन में यहां कोरोना वार्ड शुरू हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...