पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संक्रमण का इलाज:अस्पताल में 63 बेड में 44 मरीजों को लगी ऑक्सीजन, 19 अभी खाली

पिपरिया14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पिपरिया। सरकारी अस्पताल में 63 ऑक्सीजन बेड हो गए हैं। - Dainik Bhaskar
पिपरिया। सरकारी अस्पताल में 63 ऑक्सीजन बेड हो गए हैं।
  • पहले ऑक्सीजन वाले थे तीन बेड, वर्तमान में हाे गए 63

महज कुछ दिन पहले केवल तीन लोगों को आक्सीजन देने में सक्षम शासकीय अस्पताल पिपरिया वर्तमान में 63 बेड आक्सीजन देने में सक्षम है। प्रशासनिक अधिकारियों और समाजसेवियाें, जनप्रतिनिधियाें के सहयाेग से यह संभव हुआ है। नर्सिंग स्टाफ के साथ डाॅक्टरों की कमी के बीच यह अस्पताल कोरोना संक्रमण के उपचार में प्रभावी भूमिका निभा रहा हैं।

पहले केवल 3 लाेगाें के अलावा बाकी लाेगाें काे हाेशंगाबाद रैफर किया जा रहा था। वर्तमान में पिपरिया अस्पताल एक साथ 63 लोगों को ऑक्सीजन दे सकता है। शासकीय अस्पताल का प्रबंधन संभाल रहे एसडीएम नितिन टाले और तहसीलदार राजेश बोरासी ने बताया कि कलेक्टर धनंजय सिंह के आदेश पर पिपरिया अस्पताल को बेहतर किया गया है।

अस्पताल की सुप्त चल रही रोगी कल्याण समिति को चार्ज किया गया। इसमें जनप्रतिनिधि और समाजसेवी नागरिक भी आगे आए जिसके चलते अब वर्तमान में सरकारी अस्पताल में 63 ऑक्सीजन बेड हो गए हैं। एसडीएम टाले ने बताया कि शुक्रवार को 53 लोगों को ऑक्सीजन लगी थी। रविवार को 44 लोगों को ऑक्सीजन लगी है।

टाले ने कहा कि जिला प्रशासन की इच्छा है कि सरकारी अस्पताल के कोरोना उपचार संबंधी सभी बेड पर ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित की जाए। सरकारी अस्पताल में कोरोना के 100 मरीजों को भर्ती किए जाने का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा स्थानीय प्रशासन के द्वारा दवाओं के पैकेट भी बनवाए जा रहे हैं। पैकेट में फ्लू और वायरल फीवर के साथ कोरोना संक्रमण के उपचार में दी जाने वाली 5 दवाओं को रखा जा रहा है। अस्पताल स्टाफ इन दवाओं के पैकेट को तैयार करता है जिन्हें पीपी किट पहने मेडिकल स्टाफ शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में वितरित कर रहा है।

डाॅक्टर और नर्सिंग स्टाफ की अभी है कमी
पिपरिया सहित आस-पास के शहर और ग्रामों से आने वाले मरीजों के उपचार के लिए वर्तमान में दो एमबीबीएस डाॅक्टर राजकुमार पटेल और डाॅक्टर योगेंद्र सिंह हैं। इनके अलावा दो प्रशिक्षु डाॅक्टर, चार आयुष डाॅक्टर हैं। नर्सिंग स्टाफ की भी कमी है। यहां के लिए 19 अप्रैल को तीन नर्स के ऑर्डर हुए थे, लेकिन अभी तक एक भी नहीं आईं हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें