संस्कार भारती / कलाकारों को प्रशिक्षण और प्रोत्साहन देकर प्रतिभा में निखार लाना संस्कार भारती का उद्देश्य

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सारनी. संस्कार भारती ने समाज में सांस्कृतिक प्रदूषण को रोकने के लिए भारतीय मूल्य आधारित विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक आयोजन किए जाते हैं। संस्कार भारती समाज में विभिन्न कलाओं से जुड़े कलाकारों को प्रशिक्षण और प्रोत्साहन देकर उनकी कला प्रतिभा में निखार लाने का कार्य करती है। जनसामान्य में अपनी संस्कृति के प्रति अपनत्व का भाव जागृत हो, इसके लिए भी संस्कार भारती राष्ट्रीय गीत प्रतियोगिता, कृष्ण रूप सज्जा प्रतियोगिता नुक्कड़ नाटक, नृत्य, रंगोली, मेहंदी, चित्रकला,काव्य यात्रा, कवि सम्मेलन आदि अनेक कार्यक्रम किए जाते हैं। यह बातें  सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कार भारती की सारनी इकाई के माध्यम से आयोजित साधारण सभा में मध्यभारत प्रांत के सह महामंत्री मोतीलाल कुशवाहा ने व्यक्त किए। इससे पूर्व अतिथियों ने भगवान नटराज का पूजन कर साधारण सभा का शुभारंभ किया गया। इसके बाद संस्कार भारती के ध्येय गीत का सामूहिक गान किया गया। अतिथि परिचय और स्वागत श्रंृखला के बाद इकाई के महामंत्री दीपक वर्मा ने साल की गतिविधियों और आगामी कार्यक्रमों की जानकारी दी। कोषाध्यक्ष राहुल कदम ने आय व्यय का ब्यौरा प्रस्तुत किया। इसे सभी ने करतल ध्वनि से पारित किया। 
अंबादास सूने बने अध्यक्ष  
सभा में इकाई की नई कार्यकारिणी में अंबादास सूने अध्यक्ष, बाबूराव गीद उपाध्यक्ष, दीपक वर्मा महामंत्री, राहुल कदम मंत्री, संतोष प्रजापति कोषाध्यक्ष, मनीष सिंह चौहान आईटी सेल प्रमुख, शुभ्रा केसरवानी मातृशक्ति प्रमुख, राजेन्द्र तिवारी साहित्य विधा प्रमुख, पुरुषोत्तम वर्मा संगीत कला प्रमुख, पुष्प लता बारंगे चित्रकला प्रमुख,पवन मेहरा नाट्यकला प्रमुख और मोतीराम जवने प्राचीन कला प्रमुख का दायित्व दिया गया है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना