इमरजेंसी सेवाएं बाधित नहीं होने दीं:बिजली कंपनियाें के निजीकरण के विराेध में कार्य का किया बहिष्कार

शाहपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार ने बिजली कंपनियाें के निजीकरण के लिए संसद में लाए जा रहे “इलेक्ट्रीसिटी अमेंडमेंट बिल 2021” के विरोध में तथा 5 सूत्रीय मांगों को लेकर शनिवार काे विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी, कर्मचारियों ने एक दिनी कार्य बहिष्कार आंदोलन किया। इसके अलावा कर्मचारियों ने आउटसोर्स कर्मचारियों के नियमितीकरण, कोरोना योद्धा मृतक बिजली कर्मचारियों के आश्रितों को मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप 50 लाख रुपए का मुआवजा व अनुकंपा नियुक्ति सहित केंद्र के अनुरूप मंहगाई भत्ता व कोरोना के नाम पर रोकी गई वेतनवृद्धि आदि मांग की। आंदोलन के दौरान बिजली विभाग के अधिकारी व कर्मचारी अपने-अपने कार्यालयों में उपस्थित रहे। लेकिन कार्य नहीं करके प्रबंधन व सरकार से लंबित मांगाें के निराकरण की मांग की। वितरण केंद्र प्रभारी जीआर डोंगरे ने बताया अस्पतालों में यदि बिजली की सप्लाई बाधित होती है, तो उसे तुरंत सुधार करके सप्लाई मेंटेनेंस किया जाएगा। इमरजेंसी सेवाएं बाधित नहीं होंगी।

खबरें और भी हैं...