पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का खतरा बेअसर:होली पर सजी दुकानें, जमकर खरीदारी; बाजार में नहीं किया गया प्रशासन के आदेश का पालन

सोहागपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाजार में रंग गुलाल की दुकानों पर रही ग्राहकों की भीड़। - Dainik Bhaskar
बाजार में रंग गुलाल की दुकानों पर रही ग्राहकों की भीड़।

शहर में रंग गुलाल का पर्व होली शासन की कोरोना गाइडलाइन के बीच मनाया जाएगा। पर्व के अवसर पर प्रशासन द्वारा जुलूस एवं सार्वजनिक कार्यक्रम के आयोजन की अनुमति नहीं दी गई है।

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व द्वारा दिए गए आदेश के तहत लोग घरों में रहकर होली एवं शब-ए-बारात कार्यक्रम मना सकेंगे, हालांकि शासन के तमाम निर्देशों के बावजूद रविवार को बाजार में भीड़-भाड़ देखी गई। लोग ने संक्रमण काल को भूलकर बाजार से रंग गुलाल पिचकारी सहित अन्य सामान की खरीददारी की। दुकानों के सामने शहर सहित आसपास के ग्रामीण अंचलों से आए लोगों की भीड़ देखी गई।

संक्रमण के चलते शासन के निर्देशानुसार कुछ लोगों के चेहरे पर मास्क नजर आए तो कुछ लोग बिना मास्क के ही बाजार से खरीदारी करते हुए देखे गए। गौरतलब है कि एसडीएम वंदना जाट द्वारा दिए गए नए प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत अनु विभाग सोहागपुर में मेडिकल स्टोर होटल भोजनालय को छोड़कर समस्त दुकाने रात्रि 9 से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगी।

शहर में एसडीएम के निर्देशानुसार आम नागरिकों को कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराने के लिए 1 सप्ताह तक दोपहर 11 एवं शाम 7 बजे 2 मिनट के लिए सायरन बजाया जाएगा, ताकि लोगों को स्मरण रहे कि उन्हें संक्रमण काल में सोशल डिस्टेंस मास्क सैनिटाइजर आदि का प्रयोग करना है।

एसडीएम के आदेश में महाराष्ट्र से आने वाले व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग तथा बाहर से आने वाले मेहमानों की जानकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अनिवार्य रूप से दिए जाने को कहा गया है। आदेश के तहत बाहर से आने वाले लोगों को 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन रखने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें