पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Returned To The Buffer Zone From The Core Area, Panic Among The Villagers, Rescued From The Buffer Zone A Few Days Ago

बांधवगढ़़ की बाघिन बना रही टेरिटरी:कोर एरिया से फिर बफर जोन में लौटी, ग्रामीणों में दहाशत, कुछ दिन पहले ही बफर जोन से किया था रेस्क्यू

होशंगाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बांधवगढ़ से 3 महीने पूर्व लाई गई बाघिन को हाल ही में वन विभाग ने रेस्क्यू करके कोर जोन में छोड़ा था। बाघिन फिर कोर जोन से निकलकर बफर जोन में आ गई है। उसका मूवमेंट फिर बफर जोन से लगे गांव के नजदीक है। वन विभाग द्वारा बाघिन की मॉनिटरिंग बढ़ा दी गई है और रेडियो कॉलर के जरिए कर्मचारियों द्वारा उसके हर मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है। वनग्राम कामती सहरा, मंगरिया रैनीपानी एवं घोघरी से बाजार करने आए ग्रामीणों ने बताया कि बाघिन एक बार फिर से बफर से जुड़े गांव के नजदीक घूम रही है।

बाघिन के गले में कॉलर आईडी, वन अमला रख रहा नजर

एसटीआर डायरेक्टर एल कृष्णमूर्ति ने बताया बाघिन को कुछ दिन पूर्व ही बफर से रेस्क्यू करके कोर जोन में छोड़ा गया था बाघिन के फिर से बफर जोन में आ जाने की जानकारी मिली है। वन विभाग का अमला हाथियों के साथ बाघिन की माॅनिटरिंग कर रहा है। साथ ही बाघिन के गले में पहनाई गई रेडियो कॉलर के जरिए उसके हर मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है। डायरेक्टर ने बताया हर बाघ अपनी नई टेरिटरी बनाता है। बांधवगढ़ से 3 माह पूर्व लाई गई बाघिन अधिकांशतः बफर के नजदीक देखी जा रही है जो कि उसकी नई टेरिटरी हो सकती है।

खबरें और भी हैं...