पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ट्रैफिक समस्या:शहर से निकले हाइवे पर ट्राला फंसा, आधा घंटा लगी रही वाहनाें की कतार

टिमरनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टिमरनी। हाइवे के माेड पर इस तरह फंस गया ट्राला। इनसेट ट्राला फंसने से नेशनल हाइवे पर लगी वाहनाें की लंबी कतार। - Dainik Bhaskar
टिमरनी। हाइवे के माेड पर इस तरह फंस गया ट्राला। इनसेट ट्राला फंसने से नेशनल हाइवे पर लगी वाहनाें की लंबी कतार।
  • हरदा-साेडलपुर बायपास बनने के बाद ही मिल सकेगी जाम से निजात

शहर से गुजरने वाले इंदाैर-बैतूल नेशनल हाइवे पर राेजाना दर्जनाें बार वाहनाें का जाम लगता है। इंदाैर व नागपुर जाने वाले भारी वाहनाें का दबाव अधिक हाेने से यह स्थिति बनती है। स्टेशन चाैक के माेड़ पर शुक्रवार सुबह ट्राला फंस गया। इस कारण करीब आधा घंटा तक यातायात थमा रहा।

हाइवे के दाेनाें और वाहनाें की लंबी कतार लग गई। आए दिन इस तरह की स्थिति बनने से शहर के लाेग खासे परेशान हैं। किसी भी दिन बड़ी दुर्घटना हाे सकती है। जानकारी के मुताबिक नागपुर से इंदाैर की और जाने वाला ट्राला स्टेशन चाैक पर फंस गया। ट्राले काे मुड़ने के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिली। लाेगाें की मदद से ट्राले काे बार-बार आगे-पीछे कर निकाला जा सका। टीआई ज्ञानू जायसवाल का कहना है कि हाइवे पर यातायात का दबाव अधिक है। इसलिए यातायात पुलिस का एक जवान चाैक पर व्यवस्था बनाने के लिए माैजूद रहता है। इसके अलावा जरूरत हाेती है ताे थाने से पुलिस के जवान भी पहुंचाए जाते हैं। शाम काे अक्सर पुलिस के जवान व्यवस्था संभालते हैं, ताकि यातायात बाधित ना हाे।

राेजाना निकलते हैं 200 लाेडेड वाहन, हाइवे संकरा हाेने से हादसे की आशंका
शहर से निकले इंदाैर-बैतूल नेशनल हाइवे पर राेज इंदाैर-नागपुर जाने वाले करीब 200 लाेडेड वाहन गुजरते हैं। इनमें कंटेनर, ट्राले सहित अन्य वाहन शामिल हैं। हाइवे संकरा हाेने से वाहन चालकाें काे क्राॅसिंग के समय दिक्कताें का सामना करना पड़ता है। चाैराहाें पर ताे और भी परेशानी हाेती है। लंबे ट्रालाें व कंटेनराें काे मुड़ने के लिए जगह की कमी है। इससे जाम लगता है। हाइवे पर हरदा से साेडलपुर तक बायपास बनने के बाद ही लाेगाें काे जाम की समस्या से राहत मिल सकेगी।

रेलवे गेट बंद हाेते ही पाेखरनी-करताना मार्ग पर लगती है वाहनाें की कतार
पाेखरनी-करताना मार्ग पर बना रेलवे गेट भी लाेगाें की परेशानी का कारण बना हुआ है। रेलवे गेट बंद हाेने पर कई बार वाहनाें की लाइन बस स्टैंड चाैक तक पहुंच जाती है। बस स्टैंड चाैक पर बेतरतीब वाहन खड़े हाेने की वजह से भी जाम लगता है। इधर हाइवे पर संकेत बाेर्ड नहीं लगे हाेने से भी वाहन चालक भटक जाते हैं। नागरिक नंदलाल चौधरी ने बताया कि बड़ा संकेतक बोर्ड लगाना चाहिए। इस पर शहर का नाम लिखा हाे। इसके अलावा हाइवे दर्शाता निशान बना हुआ हाेना चाहिए।

खबरें और भी हैं...