• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Aliraj pur
  • Announced To Contest Election In Honor Of Kalavati Bhuria, But Not Ticket In By election, Talked To Kamal Nath And Kantilal Agreed To Reach Bala Bachchan's House

जोबट में कांग्रेस के बागी भूरिया ने नाम वापस लिया:टिकट नहीं मिला तो कलावती के सम्मान में चुनाव लड़ने का किया था ऐलान, कमलनाथ के आश्वासन पर माने

आलीराजपुर3 महीने पहले
भूरिया यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया और जोबट से कांग्रेस उम्मीदवार महेश पटेल के साथ नामांकन वापस लेने पहुंचे।

जोबट उपचुनाव में कांग्रेस के लिए बड़ी राहत की खबर आई है। कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से नाराज निर्दलीय पर्चा भरकर कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी करने वाले दीपक भूरिया ने अपना नाम वापस ले लिया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की समझाइश के बाद दीपक भूरिया ने नाम वापस लिया है।

भूरिया यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया और जोबट से कांग्रेस उम्मीदवार महेश पटेल के साथ नामांकन वापस लेने पहुंचे। पूर्व विधायक कलावती भूरिया के भतीजे दीपक ने टिकट नहीं मिलने के बाद कलावती भूरिया के सम्मान में निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था। दीपक के मैदान से हटते ही कांग्रेस के महेश पटेल और बीजेपी से सुलोचना रावत के बीच सीधा मुकाबला हाे गया है। वैसे यहां से अब 8 उम्मीदवार मैदान में हैं।

कांग्रेस से बागी होकर दीपक भूरिया ने निर्दलीय फॉर्म भरा था।
कांग्रेस से बागी होकर दीपक भूरिया ने निर्दलीय फॉर्म भरा था।

भूरिया बोले- कमलनाथ के आश्वासन के बाद नाम वापसी
नाम वापस लेने वाले भूरिया ने कहा कि कमलनाथ का कलावती भूरिया काे लेकर विशेष स्नेह और आशीर्वाद रहा है। मैंने कलावती भूरिया के सम्मान में यह लड़ाई लड़ने की तैयारी की थी, लेकिन पूर्व सीएम कमलनाथ ने मुझे आश्वासन दिया है। उनके कहने पर नामांकन वापस ले रहा हूं। भूरिया परिवार कांग्रेस के साथ था और हमेशा रहेगा।

कांग्रेस कलावती भूरिया के सपनों को पूरा करेगी
कांग्रेस उम्मीदवार महेश पटेल ने कहा - मैंने पहले ही कहा था कि दीपक कांग्रेस के युवा नेता हैं। हम उन्हें मना लेंगे। फॉर्म भरने के बाद उन्होंने कहा था कि मैं नाम वापस ले लूंगा। कांग्रेस एकजुट होकर यहां से भारी मतों से जीतेगी और कलावती भूरिया के सपनों को पूरा करेगी।

नाराजगी का पता चलते ही कांग्रेस नेता मनाने के लिए सक्रिय हो गए थे
कलावती भूरिया के भतीजे दीपक भूरिया के नाम वापस लेने की पटकथा उनके नाराज होने का पता चलते ही लिखनी शुरू हो गई थी। यही कारण रहा कि समय रहते कांग्रेस नेता उन्हें मनाने में कामयाब हो गए। टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर भूरिया ने निर्दलीय नामांकन दाखिल किया था।

इसके बाद से कांग्रेस के बड़े नेता लगातार उनसे संपर्क में थे। बाला बच्चन, विजय लक्ष्मी साधौ, रवि जोशी, कुलदीप इंडोरा, कांतिलाल भूरिया तो रविवार रात उन्हें मनाने उनके गांव पहुंचे थे। यहां पर लंबी चर्चा हुई और कई मुद्दों पर बात हुई। सभी बड़े नेताओं के मनाने के बाद कमलनाथ ने खुद भूरिया से फोन पर बात की। उन्होंने उनकी नाराजगी को समझा और आश्वासन दिया। इसके बाद दीपक फॉर्म वापस लेने के लिए राजी हो गए।

गौरतलब है कि दीपक अपनी बुआ कलावती भूरिया के निधन के बाद इसी सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन टिकट की दावेदारी में वे पिछड़ गए और कांग्रेस ने महेश पटेल को अपना प्रत्याशी बना दिया।

खबरें और भी हैं...