पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक:हर शनिवार रात 10 से सोमवार सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू और साप्ताहिक बाजार बंद रहेंगे

आलीराजपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संक्रमण की चेन को रोके रखने के लिए कलेक्टर ने जारी किए आदेश

क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक के बाद कलेक्टर सुरभि गुप्ता ने जिले में धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है। इसके अलावा जनता कर्फ्यू रविवार रात 10 से सोमवार सुबह 6 बजे तक प्रभावी रहेगा। तो प्रतिदिन रात 10 से सुबह 6 बजे तक रात का कर्फ्यू रहेगा।

जिले में संचालित होने वाले सभी साप्ताहिक हाट बाजार स्थगित रहेंगे। हाट बाजार के दिन संबंधित क्षेत्र की सभी दुकानें बंद रहेगी। वहीं आदेश के तहत जिले में सभी सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मंनोरंजन, सांस्‍कृतिक, धार्मिक आयोजन, मेले आदि पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेंगे।

स्‍कूल, कॉलेज, शैक्षणिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्‍थान बंद रहेगे। ऑनलाइन क्लासेस का संचालन हो सकेगा। जिले में सिनेमा घर, शॉपिंग मॉल, स्वीमिंग पूल, जिम, थियेटर, पिकनिंग स्पॉट, ऑडिटोरियम, सभागृह बंद रहेंगे। समस्त धार्मिक, पूजा स्थल पर एक समय में चार से अधिक व्यक्ति उपस्थित नहीं हो सकेंगे।

अति-आवश्यक सेवा देने का काम करने वाले कार्यालयों को छोड़कर शेष कार्यालय 100% अधिकारियों एवं 50% कर्मचारियों के साथ संचालित होंगे।
शहरी क्षेत्र में कियोस्क संचालन बंद रहेगा
पेट्रोल, डीजल पंप, गैस स्टेशन, रसोई गैस सेवाएं चालू रहेगी। सभी कृषि गतिविधियों की अनुमति रहेगी। कृषि मंडी, खाद-बीज, कृषि यंत्र की दुकानें खुली रहेगी। बैंक, बीमा कार्यालय एवं एटीएम चालू रहेंगे।

लेकिन शहरी क्षेत्र में कियोस्क संचालन बंद रहेगा। प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं केबल ऑपरेटर को अनुमति रहेगी। सभी प्रकार के सामानों व माल की आवाजाही की जा सकेगी।

अंतिम संस्कार में 10 तो विवाह में दोनों पक्षों के 20 लोग रहेंगे

अति-आवश्यक सेवाओं से संबंधित विभाग जैसे कलेक्टोरेट, राजस्व, पुलिस, ग्रामीण विकास, विद्युत, पेयजल, स्वास्थ्य, पशु चिकित्सा, नगरीय निकाय एवं कोरोना महामारी के नियंत्रण में लगे अन्य विभाग पूर्ण क्षमता के साथ कार्य करेंगे। जिले में अंतिम संस्कार में अधिकतम 10 व्यक्तियों की और विवाह में दोनों पक्षों को मिलाकर अधिकतम 20 व्यक्तियों के साथ अनुमति रहेगी।

इस प्रयोजन के लिए अनुविभागीय दंडाधिकारी से अनुमति लेना अनिवार्य होगा। साथ ही संबंधित को आयोजन में शामिल होने वालों की सूची उपलब्ध करानी होगी। निर्धारित संख्या में होने वाले उक्त आयोजन में अनिवार्य रूप से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा। इन्हें रहेगी छूट : आदेश के तहत सभी प्रकार की औद्योगिक गतिविधियां चालू रहेगी। उद्योग से जुड़े अधिकारी, कर्मचारियों, श्रमिकों को परिचय-पत्र के साथ आने-जाने की अनुमति रहेगी। उद्योगों के कच्चा माल, तैयार माल के आवागमन पर कोई रोक नहीं होगी।

अस्पताल, पंजीकृत क्लिनिक, दवा की दुकानें, मेडिकल इंश्योरेंस कंपनियां अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएं पशु चिकित्सा अस्पताल चालू रहेंगे। वहीं किराना दुकानें, फल व सब्जियां, डेयरी एवं दुध केंद्र, आटा चक्की, पशु आहार की दुकानें, कपड़े, जूते-चप्पल की दुकानें तो मोबाइल रिपेयर, गैरेज, ऑटो पार्टस, सीमेंट, सरिया की दुकानें भी सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक चालू रहेगी।

शेष सभी दुकानें बंद रहेगी। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत संचालित दुकानें निर्धारित समय अनुसार खुली रहेगी। आदेश के तहत दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए गोले बनाकर कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना दुकानदार व ग्राहकों को अनिवार्य होगा। दुकानदार स्वयं मास्क लगाएगा एवं बिना मास्क लगाए लोगों को सामान नहीं देंगे।

और... सवारी वाहन में यात्रियों को मास्क के साथ बैठाना होगा

ऑटो, ई-रिक्शा में दो सवारी, टैक्सी तथा निजी चार पहिया वाहनों में ड्राइवर तथा दो यात्रियों को मास्क के साथ यात्रा की अनुमति होगी। ग्रामों में एकल दुकानें पूरे समय खुली रहेगी। कोल्डस्टोरेज एवं वेयर हाउसिंग की सर्विसेज को अनुमति रहेगी।

जिले में ई-कॉमर्स कंपनियों तथा अति आवश्यक वस्तुओं की दुकानों से होम डिलेवरी की अनुमति रहेगी। जिले में समस्त मनरेगा कार्य, ग्रामीण विकास कार्य एवं अन्य विभागों के निर्माण कार्य तथा तेंदुपत्ता संग्रहण के कार्य कोविड-19 की रोकथाम के एसओपी का पालन करते हुए जारी रहेंगे। सब्जी, फल व फूल के बाजार खुले स्थानों पर लगेंगे : जिले में परंपरागत रूप से लैबर मार्केट कोविड-19 -19 के प्रोटोकॉल का पालन की शर्त पर जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित स्थान पर सुबह 7 से 11.30 बजे तक संचालित हो सकेगे।

सब्जियां, फल, फूल के बाजार जिला प्रशासन द्वारा नियत खुले स्थानों पर संचालित हो सकेंगे। एंबुलेंस, ऑक्सीजन टेंकर्स का जिले में आवागमन निर्बाध रहेगा। अस्पताल और टीकाकरण के लिए आवागमन कर रहे नागरिकों, कर्मियों पर छूट रहेगी। मेंटेनेंस सर्विस देने वाले तथा इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर, कारपेंटर, मोटर मैकेनिक, आईटी सर्विस प्रोवाइडर आदि आवागमन पर रोक नहीं होगी।

परीक्षा केंद्रों पर आने-जाने वाले परीक्षार्थी तथा परीक्षा केंद्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मी, अधिकारियों के आवागमन की छूट रहेगी। उपार्जन गतिविधियों पर कोई रोक नहीं होगी तथा सतत रूप से उपार्जन संचालित किया जाएगा। आदेश का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...