पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Aliraj pur
  • Farmers Are Not Interested In Selling Food Grains At The Support Price, So Only 811 Registered In The District, 250 Of Them In Kattiwada

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अरुचि:समर्थन मूल्य पर अनाज बेचने में रुचि नहीं ले रहे किसान इसलिए जिलेभर में सिर्फ 811 ने कराए पंजीयन, इनमें कट्ठीवाड़ा के 250

आलीराजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समर्थन मूल्य पर धान व मोटा अनाज के लिए पंजीयन की अंतिम तारीख 20 तक करने के बाद भी नहीं बढ़े किसान

खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान एवं मोटे अनाज ज्वार, बाजरा, कपास आदि के पंजीयन जिले के निर्धारित 21 पंजीयन केंद्रों पर 20 अक्टूबर तक किए गए। पहले इसके लिए 15 अक्टूबर अंतिम तारीख निर्धारित की गई थी। ज्यादा पंजीयन नहीं होने के कारण इसे बढ़ाकर 20 किया गया था। इसके बाद भी किसानों ने समर्थन मूल्य पर अनाज बेचने में रुचि नहीं ली और जिलेभर से सिर्फ 811 ने ही पंजीयन कराए। अब इस अनाज की खरीदी 16 नवंबर से शुरू की जाएगी।

कलेक्टर सुरभि गुप्ता ने किसानों से अपील की है कि एसएमएस के जरिए प्राप्त सूचना के बाद ही कोरोना वायरस संबंधी सभी सावधानियों का ध्यान रखते हुए केंद्र पर स्वयं उपस्थित होकर अपनी उपज को समर्थन मूल्य पर विक्रय करें।

वहीं किसानों द्वारा कम पंजीयन कराए जाने के संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी संतोष निराले ने कहा कि जिले में मोटा अनाज कम ही होता है। चावल की खरीदी सबसे ज्यादा कट्ठीवाड़ा से होती है। मक्का की फसल यहां सबसे ज्यादा प्रचलन में है। ग्रामीण मक्का की रोटियां ज्यादा पसंद करते हैं। इसलिए कम ही किसान अपनी फसलें बेचते हैं।

जिले में गेहूं, चने और मक्का की बोवनी शुरू
जिले में बारिश में लगाई फसलों की कटाई शुरू हो चुकी है। जिलेभर में अब तक 90 प्रतिशत से अधिक क्रॉप कटिंग हुई है। किसानों ने चने और मक्का व गेंहूं की फसलों की बोवनी भी शुरू कर दी है। जिले में इस बार पिछले साल के मुकाबले 28 प्रतिशत तक रकबा कम हुआ है।

पिछले साल जहां 64 हजार हेक्टेयर में बोवनी हुई थी। वहीं इस साल 28 प्रतिशत तक गिरकर 46 हजार हेक्टेयर में रबी की फसलों की बोवनी करने का लक्ष्य रखा गया है। कृषि विभाग के अनुसार इस साल 37.72 इंच बारिश हुई है। इसलिए रकबा भी कम हुआ है। पिछले साल 64.96 इंच बारिश हुई थी। बीते 10 सालों में 2019-20 में रिकॉर्ड बारिश दर्ज की गई थी। इसलिए पिछले साल रकबा भी ज्यादा था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें