पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

5 साल से साथ रह रही थी दो महिलाएं:चरित्र शंका और हिस्से को लेकर एक ने दूसरी की कर दी हत्या

आलीराजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आलीराजपुर. हत्या की आरोपी महिला को थाने लाया गया। - Dainik Bhaskar
आलीराजपुर. हत्या की आरोपी महिला को थाने लाया गया।
  • कोतवाली थाना क्षेत्र के गिराला गांव की घटना, आरोपी महिला गिरफ्तार

पांच साल से साथ में रह रही दो महिलाओं में विवाद हुआ और देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ गया कि एक ने दूसरी की दराते से हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र के गिराला गांव की है। टीआई दिनेश सोलंकी के अनुसार संगीता डावर और रेशमा चौहान नाम की दो महिलाएं गिराला गांव में पांच साल से साथ में रह रही थी। गिराला गांव में दोनों ढाबा चलाती थी। रेशमा व संगीता में हिस्से को लेकर विवाद था। रेशमा संगीता पर चरित्र शंका करती थी। इसी बात को लेकर रेशमा ने संगीता की हत्या कर दी।

सूचनाकर्ता लक्की पिता सुमारिया डावर ने पुलिस को बताया कि मैं इस साल 10वीं में पढ़ रहा हूं। मैं पांच साल से मेरी मम्मी संगीता डावर की सहेली रेशमा चौहान के पास रहकर पढ़ाई करता हूं। मेरी मम्मी संगीता व रेशमा पांच साल से ज्यादा समय से साथ रहते थे। दोनों मिलकर किराना दुकान व ढाबा चलाते थे। 17 जून को सुबह 11 बजे मैं आना विदाई लेने अनपुर जा रहा था।

तब मेरी मम्मी संगीता से रेशमा मकान के हिस्से व चरित्र शंका की बात को लेकर झगड़ा कर रही थी। मैं रात करीब 9 बजे अनपुर से खाना खाकर आना लेकर वापस आकर घर की छत पर रेशमा की बहन व मम्मी, उसके जीजाजी के साथ सो गया था। सुबह करीब 5.30 बजे मैं सोकर उठा और नीचे आया तो घर के अंदर झगड़े की आवाज आ रही थी। मैं घर के पीछे के कमरे में गया तो देखा रेशमा हाथ में दराता लेकर मेरी मम्मी संगीता के चेहरे, सिर और मुंह पर मार रही थी। मम्मी को खून निकल रहा था।
मैं बचाने गया तो जान से मारने दौड़ी : लक्की
सूचनाकर्ता लक्की ने पुलिस को बताया मैं बचाने गया तो रेशमा बोली कि यहां से भाग नहीं तो तुझे भी मार डालूंगी। रेशमा दराता लेकर मुझे मारने दौड़ी। मैं डर के मारे वहां से भाग गया। फिर मैं वापस आया तो देखा कि मेरी मम्मी संगीता फर्श पर खून से लथपथ पड़ी थी। चेहरे, सिर, हाथ में जगह-जगह धारदार चोट थी। मेरी मम्मी मर चुकी थी। लाश के पास में खून से सना दराता भी पड़ा था। मेरी मम्मी को रेशमा ने मकान के हिस्से और चरित्र शंका में मार डाला।

खबरें और भी हैं...