पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बिजली कंपनी की मनमानी:चंदा एकत्र कर किराये के ट्रैक्टर से खराब डीपी लेकर 3 गांवों के लोग आलीराजपुर पहुंचे, भूखे-प्यासे खड़े रहे नहीं हुई सुनवाई

आलीराजपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3 गांव में खराब पड़े ट्रांसफार्मर को लेने नहीं आए ी कंपनी के कर्मचारी, किसानों को खुद लेकर आना पड़ा

ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली कंपनी की मनमानी के चलते किसानों और ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोड कम ज्यादा होने से गांवों की डीपी जल जाती है। कई बार शिकायतों के बाद भी बिजली कंपनी के कर्मचारी डीपी उतारने नहीं पहुंचते हैं।

मजबूरन ग्रामीणों को खुद डीपी उतारकर बिजली कंपनी तक किराए का ट्रैक्टर करके लाना पड़ रहा है। जबकि ये काम बिजली कंपनी का है। कंपनी की मनमानी यही खत्म नहीं हो जाती। डीपी लेकर कार्यालय पहुंचने वाले किसानों की भी जिम्मेदार अधिकारी सुनवाई नहीं करते और घंटों उन्हें कार्यालय के बाहर भूखा-प्यासा खड़ा रहना पड़ता है। यही हाल सोमवार को कट्ठीवाड़ा के तीन गांव के लोगों का भी हुआ। दरअसल कट्ठीवाड़ा क्षेत्र के सुतारी फलिया, जमानिया व सोहजी तीन फलियों की डीपी करीब एक सप्ताह से खराब पड़ी है।

जनपद सदस्य भीमसिंह चौहान, पदमसिंह कनेश, कलसिंह चौहान, आमदा गुलिया, जंयता लालसिंह सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया एक सप्ताह से अंधेरे में रह रहे हैं। कट्ठीवाड़ा के बिजली कंपनी कार्यालय पर कई बार शिकायतें की लेकिन कोई डीपी उतारने नहीं आया। तंग आकर तीनों गांव के लोगों ने चंदा किया और किराये का ट्रैक्टर करके डीपी रखकर आलीराजपुर कार्यालय आए।

यहां सुबह 11 बजे यहां भूखे-प्यासे बैठे हैं। लेकिन किसी भी अफसर ने सुध नहीं ली। डीपी देर शाम तक ट्रैक्टर में ही पड़ी रही। एई के पास गए तो उन्होंने कहा कि खड़े रहो डीई साहब आएंगे तब बात करेंगे। परेशान होकर ग्रामीणों ने विधायक कलावती भूरिया को फोन पर मामले की जानकारी दी। विधायक ने कहा कि ये बिजली कंपनी की घोर लापरवाही है। यदि किसानों को इस तरह परेशान किया जाता है तो हम कंपनी का घेराव करेंगे।

52 मकान है एक फलिए में सिंगल फेस की मोटरें नहीं चलती
ग्रामीणों ने बताया कि एक फलिए 52 मकान है। इसमें करीब 27 सिंगल फेस की मोटरें हैं। 25 हॉर्स पावर का ट्रांसफार्मर इनका भी लोड नहीं ले पाता है। हर 3 माह में खराब हो जाता है। बिजली कंपनी में इसकी शिकायतें करने पर कहा जाता है कि आगे से ही बड़े ट्रांसफार्मर नहीं आ रहे हैं। जबकि हमें 84 हॉर्सपावर के ट्रांसफार्मर की जरूरत है। इससे पहले भी खराब पड़े ट्रांसफार्मरों को तीन बार किराया देकर ला चुके हैं। कुछ ही दिन चलने के बाद ट्रांसफार्मर खराब हो जाते हैं।

शिकायत के बाद भी कट्‌टीवाड़ा कार्यालय से नहीं बनाकर दी बिल्टी
ग्रामीणों ने बताया कि कट्ठीवाड़ा में खराब ट्रांसफार्मर की जानकारी दी थी। लेकिन वहां के अधिकारियों ने हमें बिल्टी बनाकर नहीं दी। अधिकारियों ने कहा कि आलीराजपुर चले जाओ वहां हम सीधे मेल कर देंगे। यहां के अधिकारियों ने कहा कि हमारे पास बिल्टी के लिए कोई मेल नहीं आया है। ग्रामीणों ने कहा कि इस तरह हमें अधिकारी कट्ठीवाड़ा से आलीराजपुर और आलीराजपुर से कट्ठीवाड़ा के चक्कर लगवा रहे हैं।

7 किमी सड़क खराब होने से आने-जाने में होती है परेशानी
ग्रामीणों ने बताया कट्ठीवाड़ा से आलीराजपुर की दूरी 52 किमी है। इसमें 7 किमी की सड़क बदहाल है। यहां से वाहन लाने ले जाने में भी दिक्कत होती है। वाहन वाले डबल किराए की मांग करते हैं। डीपी बदलवाना जरूरी था। क्योंकि एक सप्ताह से अंधेरे में रहे हैं। वहीं सोसायटियों से कैरोसिन भी नहीं मिल रहा है। ऐसे में पूरी रात अंधेरे में काटना पड़ती है। रात को बच्चे गर्मी में बिलखते हैं। जहरीले जीव-जंतुओं का डर बना रहता है।

ग्रामीण बोले- कट्ठीवाड़ा को गुजरात में जोड़ दो
जनपद सदस्य भीमसिंह चौहान ने बताया कि हमारे गांव गुजरात सीमा से मात्र 5 किमी की दूरी पर है। मप्र में होने पर न कोई जिले में सुनवाई होती है न ही कोई तहसील में सुनता है। हम लोग इस प्रदेश से काफी परेशान हो चुके हैं। ग्रामीणों ने कहा कि हमारे गांवों को गुजरात राज्य से जोड़ देना चाहिए। इसके लिए हम आंदोलन भी करने को तैयार है। चौहान ने कहा कि पिछले साल इस संबंध में कलेक्टर को लिखित में आवेदन देकर चर्चा की थी। लेकिन अब आंदोलन होगा।

बिजली कंपनी की लापरवाही है, घेराव करेंगे
नियमानुसार ट्रांसफार्मर बिजली कंपनी को लेकर आना चाहिए। ये कंपनी की घोर लापरवाही है कि किसानों को भाड़ा देकर ट्रांसफार्मर लाना पड़ रहा है। उसके बाद भी बदलकर नहीं दिए जा रहे हैं। किसानों को इस तरह से परेशान किया गया तो बिजली कंपनी का घेराव करेंगे।
कलावती भूरिया, विधायक, जोबट

किसान बड़े ट्रांसफार्मर की मांग कर रहे थे
किसानों की मांग थी कि उन्हें 25 हॉर्स पावर का ट्रांसफार्मर बदलकर बड़ा ट्रांसफार्मर दिया जाए लेकिन इसके लिए ऊपर बात करना पड़ती हैl जो किसान अपना ट्रांसफार्मर खुद लेकर आते हैं उन्हें कंपनी की तरफ से किलोमीटर के हिसाब से भाड़ा दिया जाता है।
रजनीश यादव, एई

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें