मां के मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए भटक रहा बेटा:2020 में कोरोना संक्रमित मां का सड़क हादसे में हुआ निधन, डेढ़ साल बाद भी नहीं बना डेथ सर्टिफिकेट, सीएम हेल्पलाइन में की शिकायत

आलीराजपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक युवक अपनी मां का मृत्यु प्रमाण पत्र लेने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहा है। करीब डेढ़ साल पहले कोरोना संक्रमित राजेंद्र वाणी की मां की मौत सड़क हादसे में हो गई थी। इसके बाद राजेंद्र ने तहसील स्तर पर मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने के लिए आवेदन दिया था, लेकिन प्रमाण पत्र नहीं बना।

सीएम हेल्पलाइन में की शिकायत

डेढ़ साल तक धार जिले के घटाबिल्लौद और बेटमा निकाय के चक्कर काटने के बाद भी मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बना। जिसके कारण युवक के कई शासकीय काम रुके हुए हैं। पीड़ित राजेंद्र वाणी ने परेशान होकर बेटमा और घटाबिल्लौद निकायों पर परेशान करने का आरोप लगाते हुए सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की।

इसके साथ ही राजेंद्र ने जोबट एसडीएम श्यामवीर सिंह नरवरिया को शिकायती आवेदन दिया है।

सड़क हादसे में हुई थी मां की मौत

पीड़ित राजेंद्र ने बताया कि 2020 में उनकी मां पार्वती बाई कोरोना संक्रमित हुई थी। इलाज के दौरान राजेंद्र की मां को डॉक्टरों ने 28 अगस्त 2020 को इंदौर रेफर कर दिया था। इंदौर जाते समय घटाबिल्लौद बाय पास पर एंबुलेंस का एक्सीडेंट हो गया था।

इस हादसे में राजेंद्र की मां पार्वती बाई का निधन हो गया था। जिसके बाद से ही युवक अपनी मां के डेथ सर्टीफिकेट के लिए चक्कर लगा रहा है। सर्टिफिकेट नहीं मिलने से उसे अभी तक किसी भी तरह की कोई आर्थिक सहायता भी नहीं मिल सकी। वहीं उसके अन्य शासकीय काम भी रुके पड़े हैं।